featured यूपी

स्कूल खुल तो गए, पर अभी भी अभिभावक असमंजस में, जानिए क्यों

स्कूल खुल तो गए, पर अभी भी अभिभावक असमंजस में, जानिए क्यों

मेरठ: स्कूल कॉलेज खोलना और दोबारा शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लेकर आने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। काफी मशक्कत के बाद दोबारा स्कूल खोलने के निर्देश दिए गए। सभी गाइडलाइन का भी पालन करने की बात कही जा रही है, लेकिन अभी भी कुछ असमंजस बरकरार है।

यह संदेह की स्थिति अभिभावकों के अंदर देखने को मिल रही है। दरअसल जब बच्चों को विद्यालय भेजा जा रहा है, उससे पहले अभिभावकों से सहमति पत्र भी लिया जा रहा है। इसी क्रम में अभिभावकों का कहना है कि हमें सहमति पत्र देने में कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन विद्यालय की तरफ से पूरी जानकारी नहीं उपलब्ध करवाई जा रही है। विद्यालय में किन गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है ? बच्चों की सुरक्षा के लिए क्या क्या कदम उठाए गए हैं? इन सब बातों को खुलकर विद्यालय प्रशासन की तरफ से अभी तक नहीं बताया गया है। ऐसे में कोई भी अभिभावक कैसे सहमति पत्र दे देगा।

कक्षा 9 से लेकर कक्षा 12 तक के स्कूल पहले ही खोले जा चुके हैं। अब कक्षा 6 से कक्षा 8 तक की पढ़ाई भी शुरू होने जा रही है। अगले हफ्ते से यह सभी स्कूल खुल जाएंगे, यूपी बोर्ड और सभी परिषदीय स्कूल के साथ-साथ सीबीएसई और आईसीएसई स्कूल ऑफलाइन तरीके से संचालित होने जा रहे हैं। हालांकि अभी भी पूरी क्षमता के साथ अध्ययन का कार्य नहीं हो रहा है, लेकिन फिर भी अभिभावकों का कहना है कि उन्हें बच्चों को अभी भी विद्यालय भेजने में डर लगा है।

कोरोना की दूसरी लहर के दृश्य अभी भी लोगों के सामने घूम रहे हैं, इसीलिए उनमें असमंजस की स्थिति बनी हुई है। हालांकि विद्यालय प्रशासन को सभी तरह की गाइडलाइन का पालन करने की बात पहले से ही कही गई है। कर्मचारी, शिक्षक और बच्चे सभी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे। स्कूल को दो शिफ्ट में संचालित करने की बात कही गई है।

Related posts

कोरोना की मौतों के बीच तलाक ने खोल दी महिला की किस्मत?

Mamta Gautam

क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी ने लगाया दूसरी औरतों के साथ संबंध होने के आरोप

Rani Naqvi

संजय कृष्णा सलिल के बेटे के शादी समारोह में पहुंचे बाबा रामदेव और अनूप जलोटा

Sachin Mishra