Breaking News खेल मनोरंजन राज्य

रोहतक में बेटियों के सम्मान में दौड़े सितारे, चलाया गया ‘बेटी को सम्मान दिलाओं’ सामाहरों

03rtk01 1512298474 रोहतक में बेटियों के सम्मान में दौड़े सितारे, चलाया गया 'बेटी को सम्मान दिलाओं' सामाहरों

रोहतक। हरियाणा के रोहतक में  सरकार द्वारा मिनी मैरथन का आयोजन किया गया। इस मैराथान का मकसद था ‘बेटी को सम्मान दिलाओं’। इस मिनी मैरथन में बॉलीवुड स्टार सुनील शेट्टी,गुलशन ग्रोवर,यशपाल शर्मा और महिमा चौधरी ने भी हिस्सा लिया। इसी के साथ ओलंपिक पदक विजेता योगेंश्वर दत्त ने भी मैराथन में हिस्सा लिया। इस दौरान सुनील शेट्टी ने कहा कि बच्चियों से रेप करने वालों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। बता दें कि मैराथन शहर के राजीव गांधी स्टेडियम से लेकर शहर के कई हिस्सों से होकर गुजरी । मैराथन में स्कूलों के बच्चों ने भी हिस्सा लिया।  फाउडेशन के प्रधान रोमेश विग ने बताया कि मैराथन दौड़ अलग-अलग आयु वर्द मे कराई गई, जिसमें 14 से 18 और 30 से लेकर 45 वर्ष तक के लोगों ने हिस्सा लिया। 03rtk01 1512298474 रोहतक में बेटियों के सम्मान में दौड़े सितारे, चलाया गया 'बेटी को सम्मान दिलाओं' सामाहरों

वहीं प्रतियोगिता के विजेताओं को चार लाख के कैश अवॉर्ड दिए गए। फाउंडेशन की ओर से 11 किलो मीटर और छह किलो मीटर की मिनी मैराथन कराई गई। मैराथन में पांच स्थान तक के विजेताओं को पुरस्कार दिया गया।इस दौरान फिल्म स्टार सुनील शेट्टी, गुलशन ग्रोवर, यशपाल शर्मा, महिमा चौधरी के अलावा ओलंपियन रेसलर योगेयवर दत्त भी शामिल रहे। सबसे पहले सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने रोहतक आए स्टार्स का स्वागत किया। फिर हरी झंडी दिखा मिनी मैराथन का शुभारंभ किया। मैराथन में पहुंचे फिल्म सितारों की एक झलक पाने के लिए लोग उमड़ पड़े।

इस दौरान फिल्म स्टार सुनील शेट्टी ने कहा कि खेल के क्षेत्र में हरियाणा का योगदान अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा कि मासूम बच्चियों से बलात्कार करना बहुत शर्मानाक काम है। ऐसा काम करने वालों को फांसी की सजा सुनाई जानी चाहिए। मैं भी बच्चों के लिए एक एनजीओ चला रहा हूं। उन्होंने कहा कि आज के दिन बेटियों पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।वहीं फिल्म स्टार गुलशन ग्रोवर ने कहा कि बेटी को सम्मान और प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए। उन्होंने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान पर राज्य सरकार की सराहना की।अभिनेत्री महिमा चौधरी ने कहा कि बेटी को सम्मान देना बहुत जरूरी है, लेकिन दुख का विषय है कि आज छोटी बच्चियों से भी अत्याचार हो रहा है। बेटियों को बचाना ही नहीं, सम्मान और रक्षा देना भी जरूरी है।

 

Related posts

मुख्य सचिव ने उद्योग विभाग में चल रहे कार्यों की समीक्षा की

Trinath Mishra

अमेरिकी हमले में आईएस आतंकवादी हाफिज सईद मारा गया

bharatkhabar

उत्तर प्रदेश में कहीं भाजपा का खाता ही न खुले, अखिलेश ने ली चुटकी

bharatkhabar