युवा राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष ने बिहार सरकार को बताया जन विरोधी

छपरा। युवा राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कुमार राय ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बिहार सरकार पर कई आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार की जनता को रोटी, कपड़ा और मकान से वंचित करने पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी है। पहले बालू, गिट्टी और मिट्टी पर रोक लगाई गई और अब ईंट पर भी पाबंदी लगा दी गई है। इस वजह से बेरोजगारी, भुखमरी और गरीबी बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में आम जनता का शोषण किए जाने की साजिश मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कर रहे हैं।

bihar
bihar rjd

बता दें कि सुनील ने कहा कि कोई भी ऐसा विभाग नहीं है जहां भ्रष्टाचार का बोल-बाला नहीं हो। मुख्यमंत्री के मुट्ठी भर लोगों को लाभ पहुंचाने के कारण जनता में काफी आक्रोश उत्पन्न हो रहा है। इस वजह से राज्य के विभिन्न जिलों में समीक्षा यात्रा के दौरान जनता मुख्यमंत्री का विरोध कर रही है। उन्होंने कहा कि वित्त रहित कॉलेजो- शिक्षण संस्थानों को सात वर्षों से अनुदान की राशि का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस वजह से संपूर्ण बिहार में अराजकता की स्थिति उत्पन्न हो गई है। ईंट भठ्ठो पर बिजली व इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है। राज्य के शहरी क्षेत्रों में इंटरनेट बदहाली की हालत में हैं।

वहीं राज्य के गांवों में बिजली पहुंचाने में राज्य सरकार नाकाम है और चंवर में चलने वाले ईंट भठ्ठो पर आधुनिक तकनीक व संचार वाली व्यवस्था को जबरन थोपना चाहती है। राज्य में इंस्पेक्टर राज लागू किया जा रहा है। जिससे गरीब, असहाय व कमजोर वर्ग के लोगों का शोषण बढ़ेगा। पुलिस प्रशासन को बालू, गिट्टी, मिट्टी व ईंट व्यवसायियों को लूटने की छूट मिल गई है। जिससे राज्य में रोजगार के अवसर समाप्त हो गया है और विकास की गति ठप हो गई है।

साथ ही राज्य में गरीब मजदूरों का पलायन काफी तेजी के साथ हो रहा है। कोई भी कंपनी बिहार में पूंजी निवेश नहीं करना चाहती है और जो कंपनिया बिहार आई थी, वह अपना कारोबार समेट कर दूसरे राज्यों में शिफ्ट कर रही हैं। विकास समीक्षा यात्रा के नाम पर नौटंकी बंद करने की मांग की तथा कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य की जनता नीतीश व मोदी की सरकार को उखाड़ फेंकेगी ।