featured देश

बाबा रामदेव घर बैठे देंगे कोरोना की दवाई..

ramdev 1 बाबा रामदेव घर बैठे देंगे कोरोना की दवाई..

करीब 6 महीनों से पूरी जदुनिया पर मौत बरसा रहे कोरोना वायरस की लाख कोशिश करने के बाद भी दवाई नहीं मिल पायी। जिसकी वजह से लोग काफी मायूस भी है। लेकिन बाबा रामदेव ने इस बुरी घड़ी में सबको राहत की सांस तब दी जाब उन्होंने बड़ी घोषणा करते हुए दावा किया कि, उनकी पतंजलि के द्वारा बनाई गई कोरोना की दवाई 100 प्रतिशत लोगों पर असर कर रही है। वो मार्केट में कोरोना की दवाई को उतारने जा रहे हैं।आपको बता दें, बाबा रामदेव ने हरिद्वार में आज कोरोनिल दवा की लॉन्चिंग की। इस मौके पर बाबा रामदेव ने कहा कि दवा का हमने दो ट्रायल किया था। पहला- क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी, दूसरा- क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल। बाबा रामदेव ने कहा कि दिल्ली से लेकर कई शहरों में हमने क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी किया. इसके तहत हमने 280 रोगियों को सम्मिलित किया। क्लिनिकल स्टडी के रिजल्ट में 100 फीसदी मरीजों की रिकवरी हुई और एक भी मौत नहीं हुई।कोरोना के सभी चरण को हम रोक पाएं। दूसरे चरण में क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल किया गया।

2019 के आम चुनाव में किसी पार्टी या नेता का समर्थन नहीं करेंगे- बाबा रामदेव

बाबा रामदेव ने दावा किया कि 100 लोगों पर क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल की स्टडी की गई। 3 दिन के अंदर 69 फीसदी रोगी रिकवर हो गए, यानी पॉजिटिव से निगेटिव हो गए। यह इतिहास की सबसे बड़ी घटना है। सात दिन के अंदर 100 फीसदी रोगी ठीक हुए हैं। और खास बात ये रही की इस ट्रायल में एक भी मरीज नहीं मरा।बाबा रामदेव ने कहा कि क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल को लेकर बहुत से अप्रूवल लेने होते हैं। इसके लिए एथिकल अप्रूवल लिया, फिर सीटीआईआर का अप्रूवल और रजिस्ट्रेशन कराया गया. भले ही लोग अभी हमसे इस दावे पर प्रश्न करें, हमारे पास हर सवाल का जवाब है. हमने सभी वैज्ञानिक नियमों का पालन किया है।

बाबा रामदेव ने कहा कि इस दवाई को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें मुलैठी-काढ़ा समेत कई चीज़ों को डाला गया है। साथ ही गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासरि का भी इस्तेमाल किया गया। आयुर्वेद से बनी इस दवाई को अगले सात दिनों में पतंजलि के स्टोर पर मिलेगी। इसके अलावा सोमवार को एक ऐप लॉन्च किया जाएगा। जिससे आप घर बैठे ही कोरोना की दवाई मंगा सकेंगे।

पतंजलि आयुर्वेद के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने एनबीटी गैजेट्स नाऊ को बताया, Orderme ऐप अगले हफ्ते लॉन्च होगा। इस ऐप के जरिए कोरोना की दवा कोरोनिल के अलावा पतंजलि के सभी प्रॉडक्ट्स मिलेंगे। उन्होंने बताया कि हमारा दूसरी कंपनियों के प्रॉडक्ट्स को भी इस प्लैटफॉर्म के तहत लाने का प्लान है। यह एक फ्री ऐप होगा, जो ऐंड्रॉयड और iOS दोनों यूजर्स के लिए उपलब्ध होगा।

पतंजलि सीईओ बालकृष्‍ण ने दावा किया है कि, यह दवा कोरोना वायरस को शरीर की स्‍वस्‍थ्‍य कोशिकाओं में घुसने नहीं देती, साथ ही कोरोना संक्रमण को बचाती है और मल्‍टीप्‍लाई होने से रोकती है। पतंजलि सीईओ के अनुसार, सैकड़ों पॉजिटिव मरीजों पर इस दवा की क्लिनिकल केस स्‍टडी हुई जिसमें 100 प्रतिशत नतीजे मिले।बालकृष्ण के मुताबिक, ‘दिव्य कोरोनिल टैबलेट’ मंगलवार से मार्केट में उपलब्ध होगी। कंपनी इसके साथ श्वसारि वटी टैबलेट भी बेचेगी। श्वसारि रस गाढ़े बलगम को बनने से रोकता है। साथ ही यह बने हुए बलगम को खत्म कर फेकड़ों में सूजन को कम करता है।

https://www.bharatkhabar.com/us-president-donald-trump-suspended-h1-b-visa/
इसलिए ये दवाई कोरोना के बढ़ते संक्रमण को भी रोक देगी। पंतजलि की तरह की दवाई को लेकर किए जा रहे दोवों ने एक उम्मीद जगा दी है। कोरोनील अब जमीनी दावों पर कैसे उतरती है। बस इसके परिणाम कुछ दिन में पता चल जाएंगे।

Related posts

दिल्ली में छाया घना कोहरा, ट्रेन और हवाई यात्रा पर पड़ा असर

Breaking News

Uttarakhand की झांकी में प्रतिभाग करने वाले कलाकारों को सीएम ने किया सम्मानित

Aman Sharma

संरचनात्मक सुधार के जरिये जीडीपी को बढ़ा सकते हैं आगे

Trinath Mishra