featured दुनिया

अजब पाक की गजब कहानी आंतकियों को छो़ड़ कोरोना मरीजों के पीछे दौड़ रहीं खूफिया एजेंसी..

emraan 1 1 अजब पाक की गजब कहानी आंतकियों को छो़ड़ कोरोना मरीजों के पीछे दौड़ रहीं खूफिया एजेंसी..

पाकिस्तान पूरी दुनिया में अपनी नापाक हरकतों के लिए जाना जाता है। जिसकी वजह से पाकिस्तान को हर जगह किरकिरी झेलनी पड़ती है।corona 2 2 अजब पाक की गजब कहानी आंतकियों को छो़ड़ कोरोना मरीजों के पीछे दौड़ रहीं खूफिया एजेंसी..

ऐसा ही कुछ आजकल पाकिस्तान में चल रहा है। जिसे जानकर आपके तोते उड़ जाएंगे। जी हां जहां एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना के साथ आंतकवादी घटनाओं से निबटने में लगी हुई है तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आंतकियों को छोड़ कोरोना मरीजों को ढूंढती फिर रही हैं।

पाकिस्तान में कोरोना के मरीजों को पकड़ने के लिए बाकायदा टेररिस्ट ट्रैकिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जा रहा है।

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियां अपनी सारी सर्विलांस टेक्नोलॉजी को कोरोना के मरीजों को पकड़ने में इस्तेमाल कर रही है।

पहले जिस सिस्टम का इस्तेमाल आंतकवादियों के लोकेशन का पता लगाने में किया जाता था।
उससे अब कोरोना मरीजों और उसके संपर्क में आए लोगों को लोकेट करने में किया जा रहा है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सार्वजनिक तौर पर इस प्रोग्राम का ऐलान किया है।
कोरोना के मरीजों को पकड़ने के लिए जियो फेंसिंग और फोन मॉनटरिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं।

आमतौर पर इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल खूंखार आतंकवादियों और बाहरी आतंकवादियों को पकड़ने में किया जाता है।

इन घटनाओं पर पाकिस्तान के कुछ सीनियर सिक्योरिटी ऑफिसर ने चिंता जाहिर की है।
उन्होंने कहा है कि इसलिए टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से कोरोना मरीजों को पकड़ा जा रहा है।

सिक्योरिटी ऑफिसर ने बताया है कि सरकार ऐसे लोगों को पकड़ने में कामयाब रही है, जो कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।

https://www.bharatkhabar.com/bravery-of-security-forces-in-pulwama-jammu-and-kashmir/
आपको बता दें पाकिस्तान में 60 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं तो वहीं 1200 लोगों की मौत हो चुकी है। और येआंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

Related posts

ओम प्रकाश से आईफैड की सुपर विजन मिशन टीम ने कंट्री लीडर मीरा मिश्रा के नेतृत्व में मुलाकात की

Rani Naqvi

खुद को भारत की बेटी कहने में आ रही शर्म, जाने क्यों बोली ”तारक मेहता का उल्टा चश्मा” फेम मुनमुन दत्ता

Rani Naqvi

बजट की तारीख पर इलेक्शन कमीशन ने सरकार से मांगा जवाब

shipra saxena