हेल्थ featured लाइफस्टाइल

अगर आप भी हर दर्द में लेते हैं पेनकिलर तो हो जाएं सावधान क्योकि…

अगर आप भी हर दर्द में लेते हैं पेनकिलर तो हो जाएं सावधान क्योकि...

नई दिल्ली।  अगर आप भी हर छोटे मोटे दर्द पर पेनकिलर लेते हैं… तो अब से संभल जाए, जी हां.. क्योकि हम जो आपको पेनकिलर के नुकसान बताने जा रहे हैं उन्हें सुनकर आप हैरान रह सकते हैं। क्या आपको पता है कि दर्द निवारक दवाओं का अंधाधुंध सेवन हार्ट अटैक और स्ट्रोक से मौत का खतरा 50 फीसदी तक बढ़ा देता है ये दवाएं शरीर से पानी और सोडियम निकालने की किडनी की रफ्तार धीमी कर देती है। इससे रक्त प्रवाह तेज हो जाता है, साथ ही अंगों को खून पहुंचाने में ज्यादा दवाब पड़ने के कारण धमनियों के फटने और व्यक्ति के हार्ट अटैक व स्ट्रोक का शिकार होने का खतरा रहता है। दर्द निवारक दवाएं दिल की धड़कन को अनियत्रिंत करती हैं। इससे व्यक्ति को बेचैनी, घबराहट, सीने में दर्द की शिकायत हो सकती है।

अगर आप भी हर दर्द में लेते हैं पेनकिलर तो हो जाएं सावधान क्योकि...
अगर आप भी हर दर्द में लेते हैं पेनकिलर तो हो जाएं सावधान क्योकि…

पेनकिलर के नुकसान

  • पैरासिटामोल, आइबुब्रूफेन और डाइक्लोफेनैक से लैस दवाएं किडनी की क्रिया प्रभावित करती हैं।
  • शरीर में पानी सोडियम का स्तर बढ़ने से रक्त प्रवाह तेज होता है और नस फटने की आशंका भी रहती है।
  • ब्लड प्रैशर घटाने में इस्तेमाल होने वाली विभिन्न दवाओं को भी बेअसर करती हैं दर्द निवारक दवाएं

ऐसे पाएं दर्द से राहत 

हल्दी
फ्री-रैडिकल्स को नष्ट करने वाले हल्दी का सेवन दर्द को दूर करने में कारगार होता है।

लौंग
दांत में दर्द होने पर लौंग का सेवन काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा अन्य बॉडी पेन को दूर करने के लिए भी यह बेहतरीन प्राकृतिक तरीका है।

अदरक
अदरक में दर्द का सिग्नल दिमाग तक पहुंचाने वाले अंजाइम की क्रिया को बाधित करने वाले यौगिक पाए जाते हैं।

बादाम
ओमेगा-3 फेटी एसिड मांसपेशियों में दर्द, सूजन, खिंचाव का सबब बनने वाले रसायनों को निष्क्रिय करता है।

बर्फ या गर्म पानी की सिकाई
जोड़ों या मांसपेशियों का दर्द होने पर बर्फ या गर्म पानी की सिकाई करें। यह नसों में खून का प्रवाह सुचारू बनाकर दर्द को कम करती हैं।

ये भी पढ़ें:-

पेनकिलर लेने से पहले जान ले ये बातें नहीं तो हो सकती हैं परेशानी

पेनकिलर से बेहतर है बीयर जानिए कैसे

बीयर बन सकता है एक पेनकिलर!

युवराज ने नेहरा के साथ बिताए पल किए साझा, कहा- आशु मेरे लिए प्रेरणस्रोत

Related posts

दिल्ली में एक बार फिर स्कूल जाएंगे बच्चे, कोरोना संकट के बीच 1 सितंबर से स्कूल खोलने का फैसला

Saurabh

उत्तर प्रदेश में जंगलराज, महिलाएं बच्चियां नहीं सुरक्षित सरकार केवल विज्ञापन द्वारा वाहवाही लूटने की कर रही कोशिश – संजय सिंह

Rahul

बाबा के दर्शन के साथ उनकी महिमा भी जान पाएंगे श्रद्धालु, मंदिर परिसर के गलियारे में लगाए गए हैं 25 चित्रात्मक पैनल

Rahul