featured उत्तराखंड देश राज्य

एक मित्र विपक्ष की भूमिका में रहा विपक्ष, 12 विधेयक हुए पास

cm rawat एक मित्र विपक्ष की भूमिका में रहा विपक्ष, 12 विधेयक हुए पास

देहरादून। बीते एक हफ़्ते से गैरसैंण में विधानसभा के शीतकालीन सत्र को लेकर व्यापक तैयारियां की जा रही थी। आशा की जा रही थी इस बार का शीतकालीन सत्र जमकर धमाकेदार होगा। विपक्ष के तगड़े हमले से भी सरकार के परखचे उड़ जाएंगे। लेकिन दो दिन में ही विधानसभा का शीतक़ालीन सत्र लगभग औपचारिक तौर पर कहा जाए तो समाप्त हो गया। लेकिन समाप्त होते होते इस दौरान 12 विधेयक पास हो गए।  विधानसभा सत्र के लिए प्रथम दिन सरकार की तरफ़ से वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने अनुपूरक बजट पेश किया। जिसमें उन्होने 3015 करोड़ का बजट पेश किया।

cm rawat एक मित्र विपक्ष की भूमिका में रहा विपक्ष, 12 विधेयक हुए पास

बता दें कि पूरे दो दिनों के सत्र के दौरान विपक्ष की भूमिका एक मित्र विपक्ष की रही सरकार की ओर से किसी भी विधेयक या प्रस्ताव को रोकने या उसमें संसोधन को लेकर बात रखने के लिए विपक्ष ने जरा सी भी कोशिश नहीं दिखाई। इस दौरान विपक्ष दूसरे मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने के असफल प्रयास में दिखा। वैसे भी विपक्ष शीतकालीन सत्र को गैरसैंण में आयोजित करने को लेकर अपनी नाराजगी पहले ही जता चुका था। नेता प्रतिपक्ष का कहना था कि कठाके की ठंड में सरकार की जिद्द के चलते लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं 2 दिन में सत्र के स्थगित होने को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि कम से कम सप्ताह या शनिवार तक सत्र का आयोजन किया जा सकता था। सरकार ने लेकर दिखाने के लिए ही सत्र का आयोजन किया था। विधान सभा के शीतकालीन सत्र के पहले सूबे में लगातार कई मुद्दों को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर था। लेकिन विधान सभा सत्र के दौरान विपक्ष का रवैया देखने के बाद ये साफ जाहिर हो गया कि विपक्ष की कथनी और करनी दोनों में अन्तर है।

साथ ही विपक्ष सरकार पर नकेल लगाने के लिए अपनी दमदार स्थित नहीं बना पा रहा है। चूंकि विपक्ष का आपस में भी मतभेद कई बार सामने आ जा रहा है। इस बात का सरकार को ही फायदा मिलता दिख रहा है। इस दौरान सरकार की ओर से 12 विधेयकों को पास किया गया है। जिसमें स्थानांतरण नीति को लेकर लम्बे समय से अटका हुआ बिल भी शामिल है।

Related posts

 महाराष्ट्र में दूध के दाम बढ़ाने की मांग को लेकर दूध उत्पादक किसान आंदोलन पर उतरें

rituraj

भारत में अफगानी आतंकीयों के घुसने की आशंका, देशभर में जारी हुआ ‘टेरर अटैक’ का अलर्ट

Kalpana Chauhan

कोरोना वायरस के कारण पाकिस्तान की बढ़ी मुसीबत, जवानों ने ड्यूटी पर जाने से किया इंकार

Rani Naqvi