Breaking News featured यूपी राज्य

उत्तर प्रदेश: योगी आदित्यनाथ की नजरों में अच्छा बनने के लिए अधिकारियों ने भगवा रंग में रंगे स्कूल

bhagwa उत्तर प्रदेश: योगी आदित्यनाथ की नजरों में अच्छा बनने के लिए अधिकारियों ने भगवा रंग में रंगे स्कूल

पीलीभीत। उत्तर प्रदेश की सत्ता में भगवा पार्टी की सरकार आते ही पूरा प्रदेश भगवा रंग में रंगने लगा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद राज्य की बसों और सरकारी इमारतों को भगवा रंग में रंगने का काम बड़ी ही जोरो-शोरो से चल रहा है। इसी कड़ी में राज्य के सौ प्राइमरी स्कूलों को भगवामय कर दिया गया है। दरअसल यूपी के पीलीभीत में अधिकारियों ने 100 से ज्यादा प्राइमरी स्कूलों को भगवा रंग में रंग दिया है। स्कूल की दीवारों को भगवा रंग में रंगने के लिए जिले के सरकारी अधिकारियों ने सर्कुलर तक जारी कर दिया है। हालांकि, विवाद के बाद इस सर्कुलर को अधिकारियों ने वापस ले लिया है।

bhagwa उत्तर प्रदेश: योगी आदित्यनाथ की नजरों में अच्छा बनने के लिए अधिकारियों ने भगवा रंग में रंगे स्कूल

अधिकारियों के इस फैसले का जिले के कई गांवों में लोगों और शिक्षकों ने विरोध किया है। विरोध कर रहा एक शिक्षक ने बताया कि उन्होंने इस फैसले का विरोध किया था, लेकिन गांव के सरपंच ने जबरदस्ती स्कूलों को भगवा रंग में रंग दिया। वहीं दूसरी तरफ विवाद बढ़ता देख अधिकारियों का कहना है कि हमने ये सर्कुलर वापस ले लिया है और हम भगवा रंग में रंगे सभी 100 स्कूलों पर दोबारा से सफेद रंग कर देंगे। गौरतलब है कि योगी सरकार ने स्कूलों में भागवद् गीता पर प्रतियोगिता करवाने का भी मन बनाया है, जिसके तहत स्कूलों को भागवद् गीता गायन का आयोजन करने के निर्देश दिए गए हैं। इस निर्देश के बाद प्रदेश के कई अधिकारियों ने बताया की सूबे के तमाम स्कूलों में ये प्रतियोगिता कराई जाएगी।

इसके बाद प्रतियोगिता के नतीजों के आधार पर चुने गए प्रतिभागियों के साथ राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन कराया जाएगा, जोकि राजधानी लखनऊ में आयोजित होगा।
राज्य के तमाम माध्यमिक शिक्षा विभाग के मंडलों के संयुक्त निदेशकों को इस बाबत निर्देश दे दिया गया है, साथ ही उन्हें यह सुनिश्चित कराने के लिए कहा गया है कि सभी बोर्ड के तहत आने वाले सरकारी स्कूलों, सहायता प्राप्त सरकारी स्कूल, निजी स्कूलों में यह प्रतियोगिता जिला स्तर व मंडल स्तर पर कराई जाए। इन गायकों का चयन 11 से 15 दिसंबर के बीच जिला व मंडल स्तर पर किया जाएगा। इस पूरे आयोजन में जो खर्च आएगा उसे संबंधित स्कूल के प्राधिकारी उठाएंगे।

Related posts

40 सालों से विकास की राह देख रहा है फतेहपुर का एक गांव

piyush shukla

उत्तराखंड के नए सीएम पुष्कर सिंह धामी आज लेंगे शपथ  

Rahul

उत्तराखंड में भारी बारिश से तबाही: आज उत्तराखंड आएंगे गृह मंत्री अमित शाह, हालातों पर करेंगे कई बैठकें

Saurabh