featured देश

नए आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने बोला आतंकवाद को लेकर पड़ोसी देश पाकिस्तान पर जमकर हमला 

जनरल मनोज मुकुंद नरवाने नए आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने बोला आतंकवाद को लेकर पड़ोसी देश पाकिस्तान पर जमकर हमला 

नई दिल्ली। नए आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने आतंकवाद को लेकर पड़ोसी देश पाकिस्तान पर जमकर हमला बोला। जनरल बिपिन रावत के उत्तराधिकारी के रूप में कार्यभार संभालने के बाद अपने पहले इंटरव्यू में नरवाने ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकवाद के किसी भी कृत्य का जवाब देने के लिए कई सारे विकल्प हैं। उन्होंने कहा कि आतंकवाद एक विश्वव्यापी समस्या है, भारत लंबे समय से आतंकवाद का सामना कर रहा है। अब पूरी दुनिया में आतंकवाद से प्रभावित कई देश महसूस कर रहे हैं कि यह कितना खतरनाक है।

बता दें कि पाकिस्तान का नाम लिए बिना जहां तक हमारे पड़ोसी की बात है तो उसकी नीतियों में आतंकवाद भी शामिल है। वह आतंकवाद के माध्यम से हमसे प्रॉक्सी वॉर करता है। यह सब लंबे समय तक नहीं चल सकता। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर तोड़ा जाता है और घुसपैठ की भी कोशिशें होती हैं लेकिन हम पूरी तरह से तैयार हैं। आर्मी चीफ ने कहा कि हमारे पड़ोसी देश हमारे खिलाफ छद्म युद्ध के तरीके के रूप में आतंकवाद का इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि यह स्थिति अधिक समय तक नहीं चल सकती क्योंकि आप अधिक समय तक सभी लोगों को बेवकूफ नहीं बना सकते।

उन्होंने कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद वहां सुधार हुआ है। हिंसा की घटनाओं में कमी आई है। यह कश्मीर में शांति स्थापित करने की ओर एक कदम है।’ सेना में खासतौर से पिछले कुछ वर्षों में मेरे अनुभव के कारण मेरा ऐसा विचार बना है कि ट्रेनिंग के साथ-साथ ऑपरेशनल पार्ट भी महत्वपूर्ण है। मुझे लगता है कि ऑपरेशनल तैयारियों के उच्च मानकों को बनाए रखना सबसे महत्वपूर्ण है।

जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने मंगलवार को 28वें सेना प्रमुख का कार्यभार संभाल लिया। वह 13 लाख सैनिकों वाले बल का नेतृत्व करेंगे। उन्होंने यह कार्यभार ऐसे समय में संभाला है, जब भारत सीमा पार आतंकवाद और सीमा पर चीन की ओर से मिल रही सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहा है। उप सेना प्रमुख पद पर रहे जनरल नरवाने ने जनरल बिपिन रावत का स्थान लिया है। ऐसी संभावना है कि सेना प्रमुख के तौर पर उनकी प्राथमिकताएं सेना में लंबे समय से अटके सुधारों को लागू करना, कश्मीर में सीमा पार से जारी आतंकवाद पर लगाम लगाना और उत्तरी सीमा पर सेना की संचालनात्मक क्षमताओं को बढ़ाना होगी।

Related posts

यूपी में गणतंत्र दिवस की धूम, राज्यपाल ने फहराया तिरंगा, झांकियां बनी आकर्षण का केंद्र

Neetu Rajbhar

बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री बैग के साथ इसलिए खिंचवाते हैं तस्वीर !

shipra saxena

भाजपा प्रवक्ता ने मुंबई सीएसटी ओवरब्रिज हादसे को बताया प्राकृतिक आपदा

bharatkhabar