September 25, 2022 8:22 pm
देश राजस्थान

नितिन गडकरी बोले सभी नेता हैं दुखी, सीएम दुखी हैं कि वो नहीं जानते कि कब सीएम बनेंगे, और बन गये तो वो सीएम कब तक रहेंगे

hin news 11264654 Nitin Gadkari 9 नितिन गडकरी बोले सभी नेता हैं दुखी, सीएम दुखी हैं कि वो नहीं जानते कि कब सीएम बनेंगे, और बन गये तो वो सीएम कब तक रहेंगे

राजस्थान विधानसभा में एक सेमिनार को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन  गडकरी ने एक अनोखा तंज सभी राजनेताओं पर कसा है। जी हां  उन्हेंने कहा कि हर नेता दुखी हैं। उन्होंने कहा कि विधायक दुखी हैं कि  पता नहीं वो कब मंत्री  बनेंगे, और मंत्री इसलिए दुखी हैं कि उन्हें अच्छा विभाग नहीं मिल पा रहा है। और  जिन मंत्रियों को अच्छा विभाग मिल भी गया है वो इसलिए दुखी हैं कि मुख्यमंत्री नहीं बन पा रहे हैं। और जो बन गये हैं वो इसलिये दुखी हैं कि उन्हें पता नहीं कि वो कब  तक मुख्यमंत्री बने रहेंगे।

इतना ही नहीं विधानसभा में उन्होंने  एक कविता सुनाई शरद जोशी ने लिखा था, ‘जो राज्यों में काम के नहीं थे, उन्हें दिल्ली भेज दिया। जो दिल्ली में काम के नहीं थे उन्हें राज्यपाल बना दिया और जो वहां भी काम के नहीं थे उन्हें राजदूत बना दिया।’ उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (अध्यक्ष रहते हुए उन्हें कोई ऐसा नहीं मिला जो दुखी न हो।

उन्होंने कहा, ‘मुझसे एक पत्रकार ने पूछा कि आप  कैसे खुश रहते हैं तो मैंने कहा कि मैं भविष्य की चिंता नहीं करता, जो भविष्य की चिंता नहीं करता, वो इंसान हमेशा खुश रहता है। वन डे क्रिकेट की तरह खेलते रहो,  मैंने सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर से चौके-छक्के लगाने का राज पूछा तो वे बोले, यह स्किल है। इसी तरह राजनीति भी एक स्किल है।’

आपको बता दे कि ये तंज हाल ही में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को हटाकर भूपेन्द्र पटेल को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर भी हो सकता है। भाजपा ने उत्तराखंड और कनार्टक में भी कुछ दिनों पूर्व मुख्यमंत्री बदले हैं। ऐसा कई लोग मान रहें हैं कि नितिन गडकरी का ये तंज हाल के हालातों को देखते हुए भी हो सकता है।

 

 

 

 

Related posts

तमिलनाडु में तूफान ‘गज’ ने मचाई भारी तबाही, 35 लोगों की मौत

mahesh yadav

सुप्रीम कोर्ट नहीं करेगी जजों के प्रेस कॉन्फ्रेंस संबंधी खबरों के प्रकाशन-प्रसारण पर रोक को लेकर सुनवाई

Rani Naqvi

अखिलेश के विरोध के बाद भी सपा में कौमी एकता दल का विलय

Rahul srivastava