featured देश राज्य

महाराष्ट्र में महिला कॉन्स्टेबलों को मिली बड़ी राहत, 12 घंटे की जगह 8 घंटे करनी होगी ड्यूटी

महाराष्ट्र में महिला कॉन्स्टेबलों महाराष्ट्र में महिला कॉन्स्टेबलों को मिली बड़ी राहत, 12 घंटे की जगह 8 घंटे करनी होगी ड्यूटी

महाराष्ट्र पुलिस ने अपने पेशेवर और निजी जीवन में संतुलन बनाने में मदद करने के लिए  महिला कॉन्स्टेबल को बड़ी राहत देते हुए ड्यूटी के 12 घंटों को घटाकर 8 घंटे कर दिया है। यह घोषणा महाराष्ट्र के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज यानी शुक्रवार की।

 

 राज्य के पुलिस निर्देशक संजय पांडे ने इस पहल की बारे में जानकारी देते हुए कहा कि जिसे पहली बार नागपुर शहर, अमरवती शहर और पुणे ग्रामीण में आजमाया गया था।

आधिकारिक बयान के मुताबिक यह पहल महाराष्ट्र में पिछले महीने ही शुरू की गई थी जिसके तहत राज्य के तीन क्षेत्रों में प्रयोगिक तौर पर लागू की गई थी। और अब इस पहल को कुछ दिनों के अंदर राज्य की अन्य शहरों व जिलों में लागू किया जाएगा। जिसका उद्देश्य महिला कांस्टेबलों की प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए उनके पेशेवर कर्तव्य और निधि जीवन में संतुलन स्थापित करना है।

नागपुर की पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार, जिन्होंने पहली बार 28 अगस्त को इस पहल को लागू किया था। उनका कहना है कि यह कदम महिला कॉन्स्टेबल को उनकी व्यक्तिगत एवं पेशेवर जीवन में संतुलन लाने के लिए मदद करेगा। उन्होंने कहा कि ड्यूटी के घंटे कम होने के बाद महिला अब अपने बच्चों और परिवार के अन्य सदस्यों को भी समय दे पा रही है।

अमरावती शहर की पुलिस आयुक्त आरती सिंह ने कहा कि इस पहल को लागू करने से सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं अब महिला कॉन्स्टेबल तनाव से मुक्त हो रही है। और अपने परिवार को अधिक समय दे पा रहे है।

हालांकि ड्यूटी के घंटे घटाकर 8 घंटे कर दिए गए हैं लेकिन आयोजन व त्यौहार के दौरान बंदोबस्त व असाधारण परिस्थितियों के दौरान पुलिस आयुक्त और जिला के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की अनुमति से काम के घंटे बढ़ाए भी जा सकते हैं।

Related posts

यूके पुलिस एलर्ट: चारधाम यात्रा में वाहनों पर रहेगी पुलिस की नजर, नहीं जा पाएंगे बगैर इजाजत

bharatkhabar

YMCA विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कर्मचारी केरल बाढ़ पीड़ितों को देंगे 1 दिन का वेतन

mahesh yadav

देहरादून: सुबोध उनियाल ने चारधाम यात्रा के संबंध में दी जानकारी

pratiyush chaubey