featured यूपी

कानपुर पुलिस ने किया नकली इंजेक्शन बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश, इन राज्यों में फैला है पूरा नेटवर्क

कानपुर पुलिस ने किया नकली इंजेक्शन बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश, इन राज्यों में फैला है पूरा नेटवर्क

कानपुरः पुलिस ने नकली इंजेक्शन बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। ये गिरोह ब्लैक फंगस में काम आने वाले लाइपोजोनल इम्फोटोरिसिन बी के नकली इंजेक्शन बेचा था। पुलिस ने इस गिरोह के सरगना विजय मौर्य को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को आरोपी के पास से मोबाइल फोन और नकली दवाओं की सप्लाई से जुड़े कई पुख्ता सुबूत मिले हैं।

आरोपी युवक से हुई पूछताछ में सामने आया है कि गिरोह का नेटवर्क सिर्फ उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि देश के आधा दर्जन से अधिक राज्यों में फैला है। देश के अलग-अलग हिस्सों में गिरोह के लोग बड़े पैमाने पर ब्लैक फंगस में इस्तेमाल होने वाली दवाईयां बेचतेह हैं।

सोमवार को ग्वालटोली पुलिस ने लखनऊ के कुर्सी रोड स्थित दो मेडिकल स्टोर संचालकों से पूछताछ की। उनसे पता चला कि इस गिरोह का सरगना विजय है। पुलिस ने उसको नोटिस देकर थाने में पूछताछ के लिए बुलाया। पर्याप्त सुबूत मिलने के बाद विजय को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताया कि विजय का कुर्सी रोड पर स्थित मोहित मेडिकल स्टोर नाम से एक मेडिकल की दुकान है। फोन से मिली कॉल रिकार्डिंग और मैसेज से साफ पता चल रहा है कि इस गिरोह का नेटवर्क यूपी के बाहरी राज्यों में भी फैला है। इसमें, बिहार, महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, राजस्थान और

मध्यप्रदेश का नाम शामिल है। इस गिरोह ने इन राज्यों में भारी मात्रा में नकली दवाएं और इजेक्शन की खपत की है। वहीं, पुलिस को विजय से हुई पूछताछ में अभी ये नहीं पता चला है कि दवाएं और नकली इंजेक्शन वह कहां से लाता था और उसकी शीसी, रैपर, ढक्कन कहां बनाता था।

ये है पूरा मामला

दरअसल, बीते दिनों ग्वालटोली पुलिस ने ज्ञानेश शर्मा और प्रकाश मिश्रा को लाइपोजोनल इम्फोटोरिसिन बी के 68 नकली इंजेक्सन के साथ गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि बड़ी मात्रा में नकली दवाओं और इंजेक्शन की काला बजारी हो रही है।

Related posts

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रियो में पदक जीतने पर साक्षी को दी बधाई

bharatkhabar

Health Tips: फास्ट फूड खाने वाले हो जाएं सावधान, सेहत के लिए है घातक

Saurabh

महिला विश्व कप के बाद क्रिकेट में बढ़ रही लोगों की रूची, जाने क्यों

Rani Naqvi