तनुश्री विवाद पर कंगना रनौत का बड़ा बयान कहा, NO का मतलब बताया जाना बेहद जरूरी

तनुश्री विवाद पर कंगना रनौत का बड़ा बयान कहा, NO का मतलब बताया जाना बेहद जरूरी

नई दिल्ली।  तनुश्री द्वारा दिए गए विवादित बयान के बाद बॉलीवुड में मानो तूफान सा आ गया हो। जहां एक तरफ बॉलीवुड के कई सितारे तनुश्री का फेवर कर रहे हैं तो कई सेलेब्स ने इस पर बात करने से मना कर दिया है। तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर विवाद पर अब एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी अपना बयान दिया है।

कंगना रनौत
कंगना रनौत

उन्होंने बिना किसी की तरफदारी किए हुए कहा है कि ‘मैं यहां इस मामले पर कोई फैसला सुनाने के लिए नहीं हूं। मैं तनुश्री की सराहना करती हूं कि उन्होंने अपने साथ हुई इस घटना के खि‍लाफ आवाज उठाई है। इस बारे में बात करना और अपना-आपना एक्सपीरियंस शेयर करना उनका और आरोपी को मौलिक अधिकार है। इस तरह के मुद्दों पर बात करना समाज के हित के लिए बहुत अच्छा है ताकि जागरुकता फैले। लेकिन दुर्भाग्यवश भारत के ज्यादातर पुरुषों को जिस तरह से उनकी मांए पालती हैं, उन्हें इतनी भी तहजीब नहीं होती कि पेशाब करने से पहले पॉट के ढ़क्कन को उठाया जाता है।

NO का मतलब

आगे उन्होंने यह भी कहा कि ‘राजा बेटा को NO का मतलब बताया जाना बेहद जरूरी है। अब समाज को राजा बेटाओं को वो सि‍खाने और बताने की जरूरत है जि‍से बताने में उनके माता-पिता असफल रहे हैं। उन्हें ये समझाना जरूरी है कि मौलिक अधि‍कार पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए सामान हैं। विश्वास करिए जब उन्हें ये बताया जाएगा तो ये उनके लिए ये एक न्यूज होगी।

इतना ही नहीं उन्होंने यह तक बोल डाला कि ‘आए दिन जिस तरह से रेप, शोषण और छेड़छाड़ की खबरें आ रही हैं, उसे देखकर इन हैवानों को इंसान की श्रेणी में रखना बेहद गलत है। हमें इस तरह की घटनाओं के बारे में बात करनी चाहिए और अपने साथ हुए वाकयों को भी उजागर करना चाहिए। ऐसा करने से इस तरह के अपराध करने वालों के दिलों में ये डर जरूर पैदा होगा कि एक लड़की कभी भी अपने साथ हुई घटना के खि‍लाफ आवाज उठा सकती है। क्योंकि हमारी जिंदगी की इस तरह की कहानियों की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती।’