September 22, 2021 1:29 pm
featured देश

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को एक बार फिर वाहनों की आवाजाही के लिए बंद, जवाहर टनल पर हुई ताजा बर्फबारी

jammu shrinagar जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को एक बार फिर वाहनों की आवाजाही के लिए बंद, जवाहर टनल पर हुई ताजा बर्फबारी

जम्मू। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को एक बार फिर वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया। जवाहर टनल पर हुई ताजा बर्फबारी, रामबन और ऊधमपुर से करीब 4 किलोमीटर दूर खैरी में हुए भूस्खलन के बाद दोनों ओर से रास्ते बंद हो गए हैं। बीकन के कर्मचारी जहां जवाहर टनल पर बर्फ हटाने का काम कर रहे हैं वहीं रामबन और ऊधमपुर के खैरी इलाके में हाइवे पर गिरे मलवे को हटाया जा रहा है।

ट्रैफिक विभाग का कहना है कि देर रात से जारी बारिश के कारण खैरी इलाके में अचानक पहाड़ से मलवा सड़क पर आ गया। इस दौरान हाइवे से गुजर रहा ट्रक उसकी चपेट में आ गया। गनिमत यह रही कि समय रहते ट्रक चालक व सहचालक सुरक्षित बाहर निकल गया। मलवे को हटाने का काम चल रहा है। इसमें जेसीबी की मदद ली जा रही है। इसके अलावा रामबन में भी भूस्खलन हुआ है। यहां कई जगह पर पहाड़ों से पत्थर भी गिर रहे हैं। यात्रियों की सुरक्षा के लिए हाइवे को बंद कर दिया गया है।

वहीं घाटी के प्रवेश द्वार जवाहर टनल पर भी भारी बर्फबारी हुई है। सड़क पर जमी बर्फ और फिसलन बढ़ जाने की वजह से कश्मीर से जम्मू की ओर आने वाले वालों को भी रोक दिया गया है। ट्रैफिक विभाग का कहना है कि कार्य पूरा होने पर ही हाइवे पर वाहनों की आवाजाही फिर शुरू की जाएगी।

वहीं रात भर हुई बारिश और तेज हवा ने एक बार फिर ठंड बढ़ा दी है। उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में हुई बर्फबारी के बाद तापमान में भी भारी गिरावट आई है। सुबह की तक बारिश और तेज हवा के चलते शहर के अधिकतर क्षेत्रों में बिजली सेवा प्रभावित हुई है। सुबह तक बारिश के बाद कुछ देर के लिए धूप निकली तो लोगों ने राहत की सांस ली लेकिन दस बजे के बाद एक बार फिर से बादल छाने लगे हैं। मौसम विज्ञान केंद्र, श्रीनगर से मिली जानकारी अनुसार शाम तक फिर से बारिश के आसार हैं।

पश्चिमी विक्षोभ का दवाब मंगलवार रात से ही बनने लगा था, सुबह होते-होते कई स्थानों पर पश्चिमी विक्षोभ सक्रीय हो गया। शुक्रवार तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। शनिवार से मौसम साफ होने लगेगा। मौसम के बिगड़े मिजाज के चलते जम्मू संभाग में अधिकतम तापमान में गिरावट आई। हालांकि बादल छाये रहने के चलते न्यूनतम तापमान अभी सामान्य ही बना हुआ है। कश्मीर में अभी अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर चल रहा है लेकिन न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे चल रहा है।

आज से उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में शुरू हुई बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश के चलते तापमान में गिरावट आएगी। त्रिकुटा पर्वत पर घने बादल छाए रहे बीच-बीच में हल्की बारिश भी हुई। हेलीकॉप्टर सेवा बीच-बीच में आंशिक रूप से प्रभावित हुई। भवन पर चलने वाली बैटरी कार सेवा के साथ ही वैष्णो देवी भवन तथा भैरव घाटी के मध्य चलने वाली पैसेंजर केबल कार सेवा सुचारु रही। कठुआ, ऊधमपुर और राजौरी जिले में बारिश होने से तापमान गिरा है। कश्मीर के उच्च पर्वतीय और निचले इलाकों में भी सुबह से बारिश हो रही है। इससे ठंड फिर बढ़ गई है।

Related posts

NET November Result 2017: घोषित हुआ UGC NET परीक्षा का परिणाम

Rani Naqvi

‘गुजरात के 44 पाटीदार विधायक हैं गधे’ हार्दिक पटेल का विवादित बयान

Rahul srivastava

उत्तराखंड: सीएम पुष्कर की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक, 1 अगस्त से खुलने जा रहे हैं स्कूल

pratiyush chaubey