featured दुनिया देश

अफगानिस्तान संकट: तालिबान के राजतिलक पर काबुल पहुंचे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के प्रमुख जनरल फैज हमीद

untitled 37 अफगानिस्तान संकट: तालिबान के राजतिलक पर काबुल पहुंचे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के प्रमुख जनरल फैज हमीद

अफगानिस्तान में तालिबान सरकार बनाने ही वाला है। ऐसे समय में अब पाकिस्तान तालिबान के राजतिलक पर शरीक होने पहुंच चुका है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के प्रमुख जनरल फैज हमीद शनिवार को काबुल पहुंचे।

काबुल पहुंचे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के प्रमुख जनरल फैज हमीद

अफगानिस्तान में तालिबान सरकार बनाने ही वाला है। ऐसे समय में अब पाकिस्तान तालिबान के राजतिलक पर शरीक होने पहुंच चुका है। पाकिस्तान पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख जनरल फैज हमीद औचक यात्रा पर शनिवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पहुंच चुके हैं। पाकिस्तानी अधिकारियों की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है।

तालिबान ने भेजा था फैज को बुलावा?

पाकिस्तान के दो अधिकारियों ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि जनरल फैज हमीद अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में पहुंचे हैं। हालांकि, अब तक स्पष्ट नहीं है कि जनरल फैज हमीद ने शनिवार को तालिबान नेतृत्व से क्या बातचीत की, लेकिन पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी का तालिबान पर काफी प्रभाव माना जाता है। कहा जा रहा है कि तालिबान के बुलावे पर फैद हमीद अफगानिस्तान पहुंचे हैं। वहीं आईएसआई चीफ के साथ पाक सेना के अधिकारियों का डेलिगेशन भी अफगानिस्तान पहुंचा है। बताया जा रहा है कि इस मुलाकात का मकसद दोनों देशों के बीच आर्थिक और सुरक्षा के मुद्दे पर बातचीत करना था।

पाकिस्तान पर अफगानिस्तान लगाता रहा है आरोप

पाकिस्तान ऐसे समय में तालिबान को कट्टर समर्थन दे रहा है जब तालिबानी लड़ाके अफगानिस्तान की जनता पर जुल्म ढा रहे हैं। पाकिस्तान पर लगातार अफगानिस्तान की ओर से तालिबान की मदद करने के आरोप लगते रहे हैं। लेकिन पाकिस्तान ने इन आरोपों को कभी स्वीकार नहीं किया। लेकिन आज जब तालिबान का अफगानिस्तान पर राजतिलक होने जा रहा है तो पाकिस्तान खुलकर जश्न में शरीक होने पहुंच रहा है।

नई सरकार का गठन करेगा तालिबान

आपको बता दें कि अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान में नई सरकार का आधिकारिक एलान हो गया है। वहीं महिलाओं की स्वतंत्रता का विरोधी तालिबान सरकार में महिलाओं को जगह देता है या नहीं इसपर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। लेकिन तालिबान सरकार में हिस्सेदारी को लेकर महिलाओं ने प्रदर्शन किया है।

 

Related posts

कांग्रेस चुनावी गणित: गाजियाबाद में बहनोई तो फूलपुर में बहन जी लड़ेंगी चुनाव

bharatkhabar

प्रियंका और दीपिका नहीं बॉलीवुड की ये एक्ट्रेस हैं नंबर-1, आप भी जाने

mohini kushwaha

सुरेश प्रभु ने की रूस कंपनियों के लिए फास्ट-ट्रैक, एकल खिड़की सुविधा की घोषणा

mahesh yadav