featured धर्म भारत खबर विशेष

Hanuman Jayanti 2021: हनुमान जी को प्रसन्न करने के उपाय, शुभ मुहुर्त और योग

Hanuman Ji

संकट कटै मिटे सब पीरा, जो सुमिरे हनुमत बलबीरा…हनुमान चालीसा की ये चौपाई संकट को आप से दूर रखती है। हनुमान जी को संकटमोचन कहा जाता है।

राम भक्त हनुमान जी अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं। इसलिए आप भी इस हनुमान जयंती के दिन राम भक्त को प्रसन्न करें।

27 अप्रैल को हनुमान जयंती

हनुमान जी की सेवा मन को शांत और आत्मविश्वास को बढ़ाती है। हनुमान जयंती पर हनुमान चालीसा का पाठ करने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है। हनुमान भक्तों के लिए हनुमान जयंती एक विशेष पर्व है। जो इस बार 27 अप्रैल को पड़ने जा रही है।

पंचांग के अनुसार चैत्र माह की पूर्णिमा तिथि को हनुमान जयंती का पर्व मनाया जाता है। इस साल ये तिथि 27 अप्रैल को है। इस दिन को हनुमान जयंती के रूप में मनाया जाएगा। इस दिन को हनुमान जी के जन्मदिवस के रूप में मनाने की परंपरा है। हनुमान जी का आर्शीवाद प्राप्त करने के लिए हनुमान जयंती का दिन बहुत ही श्रेष्ठ माना गया है। इसीलिए इस दिन धार्मिक आयोजन किए जाते हैं।

हनुमान जयंती को करें सुंदरकांड

रामायण का सुंदरकांड हनुमान जी को अति प्रिय है। माना जाता है जो भक्त इस पाठ को मन से करते हैं हनुमान जी की कृपा उन पर हमेशा बनी रहती है। इस अवसर पर विधि पूर्वक हनुमान चालीसा और सुदंरकांड का पाठ करने से सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

ऐसे करें हनुमान जयंती के दिन की शुरूआत

हनुमान जयंती के सुबह स्नान करें और हनुमान मंदिर में दीपक जरूर जलाएं। इस दिन हनुमान जी के सामने बैठ कर राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करना भी शुभ माना गया है। हनुमान जी को गुड़ और चने का भोग लगाने से वह प्रसन्न होते हैं।

शुभ योग और शुभ मुहूर्त

हनुमान जयंती के शुभ अवसर पर इस बार शुभ योग बन रहा है। पंचांग के अनुसार हनुमान जयंती पर सिद्धि योग और व्यतीपात योग का निर्माण हो रहा है। इसके साथ ही सिद्धि योग 27 अप्रैल को शाम 08 बजकर 3 मिनट तक रहेगा। पंचांग के अनुसार हनुमान जयंती पर शुभ मुहूर्त 26 अप्रैल की दोपहर 12 बजकर 44 मिनट से पूर्णिमा की तिथि के प्रारम्भ से 27 अप्रैल रात्रि 9 बजकर 01 मिनट तक है रहेगा।

चोला चढ़ाने की कथा

शास्त्रों में वर्णन हैं कि राम की लम्बी उम्र के लिए हनुमान जी अपने पूरे शरीर पर सिंदूर चढ़ाया था। इसीलिए उन्हें और उनके भक्तो को सिंदूर चढ़ाना बहुत पसंद है जिसे चोला कहा जाता है। हनुमान जी को चोला चढ़ाने से हर संकट दूर भागता है।

ऐसे चढ़ाएं चोला

इसके लिए चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर बजरंगबली को चोला चढ़ाएं। अब गुलाब के फूल की माला हनुमान जी को और उनकी दोनों भुजाओं पर थोड़ा-थोड़ा केवड़े का इत्र छिड़क दें। इसके बाद एक साबुत पान का पत्ता लें ध्यान रखें कि पान कहीं से भी कटा हुआ न हो। अब इसके ऊपर इसके ऊपर थोड़ा गुड़ व चना रख कर हनुमानजी को भोग लगाएं।

Related posts

राजधानी दिल्ली में थमी कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में सामने आए 523 मामले

Rahul

23 जनवरी 2023 का राशिफल, जानें आज का पंचांग, तिथि और राहुकाल

Rahul

तलाशी का दूसरा दिन: सामने आया साध्वियों के कमरों तक जाने का गुप्त मार्ग

Pradeep sharma