featured देश धर्म यूपी राज्य

सावन के पहले सोमवार में काशी में लगा शिव भक्तों का तांता, चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर

shiva bhakt सावन के पहले सोमवार में काशी में लगा शिव भक्तों का तांता, चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर

वाराणसीः उत्तर प्रदेश में शिव की नगरी वाराणसी में सावन के पहले सोमवार को बाबा विश्वनाथ के दर्शन-पूजन के लिए कांवड़ियों का सैलाब उमड़ा पड़ा। वाराणसी में रविवार को लगातार हो रही बारिश के बीच विश्व प्रसिद्घ काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास हजारों श्रद्धालु बाबा के दर्शन के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं।

काशी में लगा शिव भक्तों का तांता
काशी में लगा शिव भक्तों का तांता

ड्रोन कैमरों से चप्पे-चप्पे पर नजर

शिवभक्त मंदिर पहुंचने के प्रमुख रास्तों के किनारे कतारों में खड़े होने लगे हैं। शिव की नगरी बंम-बंम भोले एवं हर-हर महादेव के जयकारे से गूंज रही है। पुलिस की ओर से सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम किए गए हैं। सीसीटीवी और ड्रोन कैमरों से चप्पे-चप्पे की पर नजर रखी जा रही है। यातायात पुलिस विशेष निगरानी कर रही है। सड़कों पर अनावश्यक ठहराव करने वाले वाहन चालकों समझाने के साथ-साथ कानूनी कार्रवाई जा रही है।

विदेशी श्रद्धालु ने डारा डेरा

शिव की नगरी में पिछले कई दिनों दिनों से हजारों देशी-विदेशी श्रद्धालुओं ने डेरा डाला हुआ है। कांवड़ शिविरों, धर्मशालाओं, होटरों के अलावा वाराणसी, मंडुवाडी एवं काशी रेलवे स्टेशनों पर भी बड़ी संख्या में शिवभक्त ठहरे हुए हैं। गंगा नदी में लगातार जल स्तर बढऩे के कारण शिवभक्तों को स्नान करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जलस्तर बढऩे के कारण कई गंगा घाटों के बीच आपसी संपर्क टूट गया है।

पुलिस ने किया है पुख्ता इंतजाम

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बताया कि सावन माह के दौरान यहां आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए सुरक्षा एवं यातायात के मुकम्मल इंतजाम किये गए हैं। काशी विश्वनाथ मंदिर समेत कई शिवालायों के आसपास बैरिकेडिंग के अलावा यातायात की समुचित व्यवस्था की गई है। यातायात व्यवस्था में बदलाव किए गए हैं।

पुलिस कर्मियों को जगह-जगह किया गया तैनात

साथ ही उन्होंने बताया कि प्रमुख शिवालयों की ओर जाने वाले तमाम प्रमुख रास्तों पर वाहानों की आवाजाही पर अस्थायी प्रतिबंध लगाया गया है। उन्होंने बताया कि सादे पोशाक में पुलिस कर्मियों को जगह-जगह तैनात किया गया है। इसके अलावा सीसीटीवी एवं ड्रोन कैमरों के जरिये चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा निगरानी की जा रही है।

अंकित त्रिपाठी

Related posts

जीएसटी काउंसिल बैठक में लेट फीस वालों को मिली राहत

Rani Naqvi

सीएम रावत ने केन्द्रीय मंत्री स्वर्गीय अनंत कुमार के परिवारजनों को पत्र के जरिए शोक संवेदना व्यक्त की

Rani Naqvi

Sant Ravidas Jayanti: संत रविदास जयंती कब? जानिए उनके 5 अनमोल विचार

Neetu Rajbhar