September 22, 2021 2:20 pm
featured देश

कोरोना संक्रमितों का इलाज करते हुए जान गंवाने वाले डॉक्टर का शव लेकर दर-ब-दर भटकते रहे परिजन

dead body कोरोना संक्रमितों का इलाज करते हुए जान गंवाने वाले डॉक्टर का शव लेकर दर-ब-दर भटकते रहे परिजन

चेन्नाई। संक्रमितों का इलाज करते हुए जान गंवाने वाले चेन्नई के 55 वर्षीय डॉक्टर सिमोन हर्क्यूलिस के शव को दफनाने के लिए दर-ब-दर भटकना पड़ा। इस बीच उनके परिजन और मित्र डॉक्टरों पर पॉश कॉलोनी के लोगों ने पत्थर भी बरसाए, जिससे उनका शव ले जा रही एंबुलेंस के ड्राइवर व सफाईकर्मी घायल हो गए। बाद में पुलिस बल की मौजूदगी में रात 1:30 बजे शव को दफनाया जा सका। 

चेन्नई में न्यू होप नाम का अस्पताल चला रहे न्यूरोसर्जन डॉ. सिमोन को एक मरीज से हुए संक्रमण के बाद अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां रविवार को उनकी मौत हो गई थी। चेन्नई नगर निगम ने उनका अंतिम संस्कार किलपॉक क्षेत्र के कब्रिस्तान में करने की व्यवस्था की थी।

https://www.bharatkhabar.com/which-districts-across-the-country-except-delhi-ncr-were-given-relaxation-in-lockdown-from-today/

जब उनका शव को लेकर परिजन और मित्र वहां पहुंचे तो करीब 300 लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। लोगों ने निवेदन किया लेकिन वे नहीं मानें। तब निगम ने शव दफनाने के लिए अन्नानगर स्थित कब्रिस्तान में व्यवस्था की। वहां पहुंचते ही 50-60 लोगों ने उन पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। इसके बाद भारी पुलिसबल के साथ रात 1:30 बजे शव को किलपॉक कब्रिस्तान में ही दफनाया गया।

20 लोग गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले में 20 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की बात कही गई है। प्रदेश की स्वास्थ्य सचिव डॉक्टर बीला राजेश ने ट्वीट के जरिये डॉक्टर सिमोन को उनकी सेवाओं के लिए नमन किया और स्वास्थ्यकर्मियों को असली हीरो बताया।

Related posts

चिदंबरम और केजरीवाल ने बीजेपी पर लगाया विपक्षी दलों की सरकार को अस्थिर करने का आरोप

Rani Naqvi

कोरोना से लगातार होती मौतों से जूझता अमेरिका क्यों खोल रहा मस्जिदे?

Mamta Gautam

नंदूरबार में भारत बंद के समर्थन में एसटी बस की तोड़फोड़

Rani Naqvi