cm yogi 1 जहरीली शराब की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 116 पर पहुंचा

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में 6 और मौतें और हरिद्वार में 3 मौतों के साथ रविववार को जहरीली शराब की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 116 हो गया है। इसके अलावा यूपी में 16 और उत्तराखंड में 12 लोगों की हालत गंभीर है। समाजवादी पार्टी (एसपी) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) दोनों राज्यों में हुई मौतों के लिए सत्ताधारी बीजेपी पर आरोप मढ़ रही हैं। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि जहरीली शराब कांड में उन्हें साजिश की बू आ रही है, जिसमें एसपी शामिल हो सकती है। बता दें कि सरकार ने शराब कांड की जांच के लिए एसआईटी टीम गठित की है।

cm yogi 1 जहरीली शराब की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 116 पर पहुंचा

वहीं यूपी के सहारनपुर में मौत का आंकड़ा 70 पार हो गई है वहीं उत्तराखंड में 36 की मौत अब तक हो चुकी है। पूर्वी यूपी के कुशीनगर में जहरीली शराब की वजह से 10 लोगों की मौत हो चुकी है। अपने गृहजनपद से योगी आदित्यनाथ ने शराब कांड के दोषियों के किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़े होने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी जारी की। उन्होंने कहा, ‘पहले भी एसपी नेताओं द्वारा इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। आजमगढ़, हरदोई, कानपुर और बाराबंकी में हुए जहरीली शराब कांड एसपी नेता शामिल पाए गए थे। इसलिए इस बार भी किसी साजिश से इनकार नहीं किया जा सकता है।’

बता दें कि दूसरी ओर अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर आरोप लगाया तो बीएसपी ने सीबीआई जांच की मांग की। इनके अलावा कांग्रेस की नई महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बीजेपी सरकार से जहरीली शराब कांड के जिम्मेदारों को कड़ी से कड़ी सजा देने और मृतकों के परिवारों को मुआवजा सुनिश्चित करने को कहा। उधर, रविवार को सहारनपुर जिले में शराब कांड के विरोध में प्रदर्शन हुआ और करीब सैकड़ों महिलाओं और पुरुषों ने गगलहेडी इलाके में सहारनपुर-मुजफ्फरनगर हाइवे जाम को घंटों जाम रखा। महिलाओं के एक समूह ने गगलहेड़ी इलाके में एक देशी शराब की दुकान पर धावा बोलकर तोड़फोड़ की। प्रदर्शनकारियों ने सैकड़ों शराब के पाउच को आग के हवाले कर दिया। इस मामले में उत्तर प्रदेश में अवैध शराब को लेकर पुलिस की कड़ी कार्रवाई में 215 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

वहीं शराब कांड पर यूपी के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि सहारनपुर और कुशीनगर में हुई घटनाओं के पीछे कारण अलग-अलग हैं। सहारनपुर में लोग एक कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने के लिए उत्‍तराखंड गए थे, जहां उन्‍होंने जहरीली शराब का सेवन किया। जब वे लौटे तो मौत का आंकड़ा बढ़ गया। सिंह ने बताया कि कुशीनगर में शराब कांड के मुख्‍य आरोपी रजिंदर जायसवाल को अरेस्‍ट कर लिया गया है। कुशीनगर के दोषी अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया गया है। योगी सरकार ने एडीजी रेलवे संजय सिंघल के नेतृत्‍व में एसआईटी का गठन किया है। एसआईटी कुशीनगर और सहारनपुर शराब कांड की जांच करेगी। सीएम योगी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी और किसी भी दोषी को बख्‍शा नहीं जाएगा।

इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने इस त्रासदी की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं और पुलिस और आबकारी विभाग के कई अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने बांदा, गोरखपुर, हमीरपुर, चित्रकूट, बस्ती, देवबंद, महाराजगंज, मथुरा, बुलंदशहर, गाजियाबाद व मेरठ में कई जगहों पर छापेमारी की है। पुलिस व आबकारी विभाग ने एटा जिले के नगला मध्य गांव में संयुक्त छापेमारी की। एटा जिले में रविवार को 50 लीटर जहरीली शराब जब्त की गई है और तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के मामले में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला भी शुरू हो गया। शराब के चलते हो रही मौतों के बीच यूपी में छापेमारी के दौरान 9,269 लीटर और उत्तराखंड में 1066 लीटर अवैध शराब जब्त की गई है।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    डिजिटल युग में न्यायिक प्रक्रिया दबाव में: SC न्यायाधीश जस्टिस ए.के.सीकरी

    Previous article

    पाक अफगान तालिबान के साथ अमेरिकी शांति वार्ता में पर्दे के पीछे से निभा रह अहम भूमिका

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured