ड्राइवर ने कहा कि हादसे में उससे नहीं हुई कोई गलती, उसे मिला था ग्रीन सिग्नल

नई दिल्ली। शुक्रवार को रावण दहन कार्यक्रम स्थल के पास रेलवे लाइन पर हुए तांडव को लेकर पंजाब पुलिस और रेलवे पुलिस ने शनिवार को उस ट्रेन की ड्राइवर को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इस लोको पायलट को लेकर पुलिस के अधिकारियों ने लुधियाना रेलवे स्टेशन पर हिरासत में ले लिया। इसके बाद इससे उस घटना को लेकर काफी पूछताछ की गई।

सूत्रों की माने तो ड्राइवर का कहना था कि उससे ग्रीन सिग्नल मिला था। इसका मतलब था कि रास्ता साफ है उसे कोई अंदाजा नहीं था कि इतनी बड़ी संख्या में लोग ट्रैक पर खड़े होंगे। उसकी इस हादसे में कोई गलती नहीं है। घटना के बाद देर रात रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने भी घटना स्थल का दौरा किया है। इसके साथ ही उन्होने इस घटना पर दुख जताते हुए इसकी जांच के आदेश भी दिए हैं।

रेलवे की माने तो उसका कहना है कि इस स्थान को लेकर और दशहरे के कार्यक्रम को लेकर उनके पास कोई जानकारी नहीं थी। इस मामले में रेलवे प्रशासन ने स्थानीय प्रशासन पर ही ठीकरा फोड़ दिया है। रेलवे प्रशासन का कहना है कि इस व्यस्त ट्रैक पर इतनी संख्या में लोगों को स्थानीय प्रशासन ने आने कैसे दिया। हांलाकि हादसे को लेकर रेलवे प्रशासन सारी जानकारियां जुटाने में लगा हुआ है।