November 29, 2021 8:55 pm
Breaking News यूपी

कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन

uday pratap singh kumkum sahu कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन

लखनऊ। अजंली फ़िल्म प्रोडक्शन एवं सिटीसीएस फैमिली द्वारा चल रहे डिजिटल उत्सव सीज़न दो का सोमवार को दूसरा दिन था। डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन कोविड एवं उससे उभरकर सामना करने एवं प्राकृतिक संरक्षण पर आधारित रहा।

इसके साथ ही मनोरंजन का भी दर्शको में जमकर लुत्फ उठाया। अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन के फेसबुक पेज पर लाइव चल रहे डिजिटल उत्सव का दर्शकों को खूब प्यार मिल रहा है।

kumari vaishnavui कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन
Kumari Vaishnavi

मेक माई ट्यूशन एवं यूथ होस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया तुलसीपुर इकाई के सहयोग से चल रहे डिजिटल उत्सव के दूसरे दिन भी अलग अलग प्रदेशो एवं यूपी के शहरों से कलाकारों में कला प्रदर्शन किया।

jyoti कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन
Jyoti

डिजिटल उत्सव के दूसरे दिन का शुभारंभ करते हुए बिहार के दरभंगा से कुमारी वैष्णवी ने भावविभोर प्रस्तुति दी। इसके बाद कर्नाटक बैंगलोर से शिखा जैन ने कोरोना पर आधारित कविता “कभी सोचा न था ऐसा वक्त भी आएगा,प्रियजनों से मिलने को जब जी कतरायेगा शीर्षक एवं वातावरण संरक्षण पर आधारित कविता प्रकृति एवं ऑनलाइन शिक्षा पद्धति पर आधारित कविता “बच्चों का भविष्य” दर्शकों को सुनाया।

anshika ray कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन
Anshika Ray

यूपी बाराबंकी से ज्योति रावत ने घर मे पधारो गजांनद जी, गली में आज चांद निकला सहित बॉलीवुड के कई श्रंगार रस के गीत प्रस्तुत किये।

akarsh कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन
Akarsh

बाराबंकी से ही ऐमन जावेद फारूकी ने ओ मेरे दिल के चैन,तुझसे नाराज़ नही ज़िन्दगी,हम तेरे शहर में आएं है  सहित कई पुराने नगमे पेश किए। ए मेरे वतन के लोगो ज़रा आँख में भर लो पानी सुनाया तो दर्शकों की आँखें नम हो गई।

aiman कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन
Aiman

अदिति वर्मा ने भक्ति गीत से शुरुआत करके दर्शकों में भक्ति भावना जागृत की। लखनऊ की बाल कथक कलाकार अंशिका राय ने शृंगार को रहने दो, मोरी झनक झनक बाजे पायलिया इत्यादि गानों पर कथक मिक्स की प्रस्तुति दी।

abhishek कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन
Abhishek

अभिषेक राजपूत ने स्वस्थ रहो मस्त रहो 100 साल जीते रहो शीर्षक कविता दर्शकों को सुनाई। उभरते हुए कलाकार आकर्षित सिंह सूर्यवंशी ने मैं जिस दिन भुला दूं बेवफा तेरा मासूम चेहरा जब दीप जले आना प्रस्तुति दी ।

group hai ek sath कोविड जागरूकता के नाम रहा डिजिटल उत्सव का दूसरा दिन

यूपी के रायबरेली से उदय प्रताप सिंह एवं कुमकुम साहू ने हारमोनियम एवं तबले की थाप पर  शिक्षा हो मन मे तो धन मिले अपार,तोरा मन दर्पण कहलाये,ज़रा देर ठहरो राम तम्मना यही है सहित कई सुखद भजनों को डुएट में गाकर सुनाया।

Related posts

पीएम मोदी की सुरक्षा बैठक में भिड़े SSP और SP, पुलिसवाले देखते रहे मैच

Srishti vishwakarma

मृतक रोडवेज कर्मियों के लिए उठाई ये मांग

sushil kumar

मानवीय संवेदना की बड़ी मिशाल है एस एस पी डॉ राजेश पान्डेय

piyush shukla