445482db 68a8 4b18 acf5 6957d5bd94c5 DCP कुशवाहा ने पकड़े गए आतंकियों को लेकर किया बड़ा खुलासा, भारत में ही ड्रग्स बेचकर देते हैं आतंकवाद को हवा

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस को आज सुबह एक बहुत कामयाबी हाथ लगी है। स्पेशल सेल ने आज मुठभेड़ में पांच आतंकियो को गिरफ्तार किया है। जिनके पास ने हथियार समेत कई दस्तावेज बरामद हुए है। जिसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने खुलासा करते कहा कि अफगानिस्तान में आईएसआई (ISI) मौजूद है। वहां से टेरर फाइनेंस ऑपरेट होता है। कश्मीर टेरर नेटवर्क के जरिए ड्रग्स भारत भिजवाया जाता है। जब इंडिया में वह ड्रग्स बिक जाता है, तो उसी के पैसे से ये लोग भारत में आतंकवाद को हवा देते हैं। आतंकवाद को फाइनेंस करते हैं। सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश हो रही है। इन सबका लिंक पाकिस्तान से है और इनका टारगेट किलिंग का प्लान था, लेकिन दिल्ली पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों की कोशिश से यह लोग पकड़े गए हैं।

एजेंसी ISI से है पकड़े गए आतंकियों का कनेक्शन-

बता दें कि डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने कहा कि जो लोग आतंकवाद के खिलाफ खड़े हो रहे हैं, उनकी हत्या करवाई जा रही है। इसके साथ ही पंजाब में टारगेट किलिंग का काम यही लोग अंजाम दे रहे हैं। दरअसल, इस सबके पीछे पाकिस्तानी एजेंसी ISI का हाथ है। जांच और पूछताछ में पता चला है कि पकड़े गए सभी आरोपी अपराधी हैं। इनमें आरोपी पठान का कनेक्शन हिजबुल मुजाहिदीन से है, वो हिजबुल का OGW था. इनके संबंध पाकिस्तान में बैठे आतंकियों से हैं। पठान का भाई पीओके में रहता है। ये लोग ड्रग की तस्करी में शामिल हैं। डीसीपी के मुताबिक हिजबुल मुजाहिदीन का संबंध पंजाब से यानि वहां के खालिस्तानियों से बनवाने की कोशिश की जा रही है। जिसके पीछे आईएसआई है। पता चला है कि पाकिस्तानी एजेंसी ISI खालिस्तानी और कश्मीरी आतंकियों का टेरर कनेक्शन बनाने की कोशिश कर रही है। बलविंदर सिंह हत्याकांड के पीछे भी इनका लिंक था। पंजाब के कई अपराधी और गैंगस्टर्स को इसमें शामिल किया जा रहा है। इनमें ज्ञानी और सुखा नामक गैंगस्टर्स का नाम भी आया है।

पकड़े गए पंजाब के लड़कों के पीछे सुख बिहारीवाल-

DCP कुशवाहा का कहना है कि एक तरफ खालिस्तानी रेडिकल और एक तरफ जम्मू कश्मीर के आतंकी संगठन दोनों एक साथ सामने आए हैं। पंजाब के लड़कों के पीछे सुख बिहारीवाल है। जो गल्फ से ऑपरेट करता है। इन्हें सुख बिहारीवाल के जरिए ही हथियार मिले थे। कश्मीरियों ने जो ड्रग्स बेचे थे, उसका पैसा इन लोगों को दिया गया था, सुख बिहारीवाल के बारे में काम चल रहा है। खालिस्तानी विचाराधारा को हवा देने के लिए गैंगस्टर्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। पकड़े गए पंजाब के दोनों लड़के अपराधी हैं. इनका आपराधिक इतिहास है। इनके खिलाफ पहले से कई मुकदमे हैं। इन पर आर्म्स एक्ट, फायरिंग, कार चोरी, अपहरण, ड्रग तस्करी जैसे संगीन मामले चल रहे हैं।

 

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

जानें साल 2021 में कब-कब है विवाह का शुभ मुहूर्त, इन तारीखों पर करेंगे शादी तो नहीं आएगा कोई विघ्न !

Previous article

कोरोना संकट को लेकर कनाडा की अगुवाई में हो रही बैठक में शामिल नहीं हुए विदेश मंत्री जयशंकर प्रसाद, जानें क्या है पूरा मामला

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.