September 25, 2021 11:22 am
featured देश

कोरोना वायरस के मरीज ने किया दिल्ली से चली राजधानी एक्सप्रेस में सफर,  129 लोगों के था संपर्क में

राजधानी एक्सप्रेस कोरोना वायरस के मरीज ने किया दिल्ली से चली राजधानी एक्सप्रेस में सफर,  129 लोगों के था संपर्क में

भुवनेश्वर। ओडिशा में कोरोना वायरस से संक्रमित जो पहला केस सामने आया है वह 10 दिन पहले ही इटली से लौटा था। बता दें कि चीन के बाद इटली से इस वक्त कोरोना के सबसे अधिक मरीज सामने आ रहे हैं। इस शख्स ने इटली से वापस आकर होम क्वैरेंटीन से बचने के लिए कई बार गेस्ट हाउस बदले और यही नहीं भुवेश्वर वापस आने से पहले तक वह 129 लोगों के संपर्क में भी आ चुका है। इस खुलासे के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।

बता दें कि कोरोना से संक्रमित इस 33 साल के रिसर्चर का कैपिटल हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है जहां उसे अब आइसोलेशन वॉर्ड में रखा गया है। ओडिशा का कोरोना केस जिन 129 लोगों के संपर्क में आया उनमें से 76 राजधानी एक्सप्रेस में उसके सहयात्री थे। रिसर्चर इटली के मिलान से 6 मार्च को दिल्ली आया था और एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग क्लियर की।

उस वक्त तक उसमें कोरोना के लक्षण सामने नहीं आए थे। फिर भी रिसर्चर को 14 दिन के लिए होम आइसोलेशन की सलाह दी गई। उसने भुवनेश्वर न जाने का फैसला किया और 11 मार्च तक दिल्ली में ही एक गेस्ट हाउस से दूसरे गेस्ट हाउस तक जाता रहा।

एक अधिकारी ने बताया, ‘मरीज ने एम्स के पास एक प्राइवेट गेस्टहाउस में एक रात बिताई। इसके बाद वह आईआईटी दिल्ली के गेस्ट हाउस में शिफ्ट हो गया। इसके बाद पहाड़गंज के पास तीसरा गेस्टहाउस पकड़ा। 11 मार्च को वह भुवनेश्वर जाने वाली राजधानी में चढ़ा और अगले दिन फ्लू के लक्षण लिए वह भुवनेश्वर पहुंच गया। रिसर्चर के पिता उसे रेलवे स्टेशन में लेने आए और ऑटोरिक्शा से घर लेकर गए। 13 मार्च को वह चेकअप के लिए कैपिटल अस्पताल गया और अगले दिन आइसोलेशन वॉर्ड में उसे शिफ्ट कर दिया गया। रविवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

Related posts

पीजीआई में कोरोना जांच के लिए मारामारी,कर्मचारियों को भी इलाज के लिए हो रही दिक्कत

sushil kumar

पीड़ित परिवार से मिलने हाथरस जाएंगे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद

Samar Khan

कोर्ट ने पी. चिदंबरम  को 19 सितंबर तक के लिए भेजा तिहाड़ जेल

Rani Naqvi