corona virus new strain क्या हैं ब्रिटेन में मिले कोविड के नए स्ट्रेन के लक्षण, जानें ये कितना खतरनाक

जब से ब्रिटेन से कोरोनो वायरस के एक नये प्रकार की खबर सामने आई है तब से ही खौफ हो ज्यादा बढ़ गया है. तरह-तरह के सवाल दिमाग में पैदा हो रहे हैं. लेकिन केंद्र सरकार ने कहा है कि भारत में अभी इसका कोई मामला सामने नहीं आया है और सरकार बिलकुल तैयार है. कोविड-19 के इस नए प्रकार ने दुनिया भर में काफी दहशत पैदा कर दी है. क्योंकि यह ब्रिटेन भर में तेजी से फैल रहा है. नया संस्करण ज्यादातर इंग्लैंड के दक्षिण पूर्व में, विशेष रूप से लंदन और केंट में पाया गया है. इससे सरकार को अतिरिक्त टियर 4 लॉकडाउन के साथ कई सख्त प्रतिबंध लागू करने के लिए मजबूर होना पड़ा है.

सार्स-सीओवी-2 वायरस के नए संस्करण को “VUI-202012/01” या वंश B.1.1.7 कहा गया है. ये पुराने संस्करण की तुलना में बहुत अधिक संक्रामक बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि ये तेजी से फैल रहा है. आपको बता दें कि इस नए संस्करण का पहला मामला सितंबर में सामने आया था. नए वैरिएंट से जुड़े मामलों की जानकारी इंग्लैंड के 60 से ज्यादा स्थानीय अधिकारियों ने दी है. जानकारी के मुताबिक ये जो नया स्ट्रेन हैं वो पहले वाले से काफी अलग और खतरनाक है. इसके लक्षण भी पहले वाले से अलग हैं और ये पहले वाले से ज्यादा तेजी से फैलता है.

जानतें है क्या है इन नए प्रकार के लक्षण
नए स्ट्रेन के प्राथमिक लक्षण वही रहते हैं जिनमें लगातार खांसी, सीने में दर्द, बुखार, स्वाद और सूंगने की शक्ति प्रभावित, दर्द और ठंड लगना शामिल है.

जानकारी के मुताबित नया कॉविड स्ट्रेन पिछले उपभेदों की तुलना में 70 प्रतिशत अधिक संक्रामक है, जो इसे और खतरनाक बनाता है. शोधकर्ताओं का यह भी कहना है कि नया संस्करण प्रतिरक्षा प्रणाली पर तेजी से और पिछले उपभेदों की तुलना में अधिक गंभीर रूप से हमला कर सकता है. आपको बता दें ब्रिटेन में नए कोरोना का प्रकोप और भी भयावह आकार ले रहा है. इंग्लैंड के मुख्य चिकित्सा अधिकारी पहले ही चेतावनी दे चुके हैं कि वायरस अधिक तेजी से फैल सकता है. ब्रिटेन में कोरोना मामलों की संख्या बढ़ रही है. इसके मद्देनजर ब्रिटेन से विमान सेवा फिलहाल स्थगित कर दी गई है. लंदन में फिर से लॉकडाउन लगा दिया गया है.

कोरोना का नया स्ट्रेन बरफा रहा अपना कहर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए नए दिशा-निर्देश

Previous article

कंपनियों पर पड़ा कोरोना का असर, सरकार ने बैंकरप्सी कोड को आगे बढ़ाने का किया फैसला

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.