corona 2 1 AIIMS की स्टडी: भारत में कोरोना से मौत कम

भारत में एक बार फिर कोरोना वायरस तेज़ी से फैल रहा है। हर रोज़ कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या बढ़ रही है। इस बीच एक चौकाने वाली स्टडी में ये बात सामने आई है कि भारत में कोरोना से मौत विश्व के मुकाबले बहुत कम हैं।

भारत में मौत कम

विश्व में अब तक 12 करोड़ 47 लाख लोगों को कोरोना संक्रमण हो चुका है। इनमें 27.36 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना संक्रमण के मामले में भारत तीसरे नंबर पर है। देश में अब तक लगभग 1.1 करोड़ से ज्यादा मामले कोरोना संक्रमण के आ चुके हैं। भारत के लिए एक अच्छी बात है कि जिस अनुपात में भारत में कोरोना संक्रमण हो रहा है उस अनुपात में कोरोना से लोगों की मौत नहीं हुई हैं।

भारत में अब तक कोरोना संक्रमण से 1.60 लाख लोगों की मौत हो चुकी है जबकि ब्राजील में 1.20 करोड़ संक्रमण पर 2.95 लाख मौतें हो चुकी हैं। भारत में कोरोना संक्रमण से मृत्यु दर क्यों कम है, इस रहस्य से पर्दा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी और एम्स के वैज्ञानिकों ने उठा दिया है। इनके संयुक्त स्टडी को टॉप मेडिकल जर्नल फ्रंटियर इन इम्युनोलॉजी में प्रकाशित किया गया है।

T-cells से इसकी वजह

रिसर्च करते वक्त कोरोना काल से पहले कुछ लोगों के खून से 66 प्रतिशत ब्लड सैंपल और प्लाजमा को लिए गए थे। जिनमें कोरोना संक्रमण का जोखिम ही नहीं था। रिसर्च के दौरान ये तथ्य सामने आया कि प्लाजमा में SARS-CoV-2 के खिलाफ CD4+T cells ने प्रभावी तरीके से काम कर रहा है। क्योंकि SARS-CoV-2 के कारण ही कोरोना वायरस का संक्रमण होता है।

इससे भी बड़ी बात यह थी कि हेल्दी डोनर से प्राप्त 21 प्रतिशत सैंपल में SARSCoV-2 के कारण बढ़ने वाला प्रोटीन को भी मजबूती से किनारे लगा दिया। दरअसल टी सेल खून में मौजूद श्वेत रक्त कोशिका (डब्ल्यूबीसी) का एक प्रकार है जो इम्यून सिस्टम के लिए महत्वपूर्ण है। यही सेल हमारे इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाता है।

बिहार: यहीं से शुरू हुई थी ‘होलिका’ जलाने की परंपरा, नरसिंह भगवान निकले थे खंभा फाड़कर

Previous article

मेरठ: अखिलेश यादव का भाजपा पर निशाना, प्रदेश में सपा सरकार बनवाने की अपील

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured