featured यूपी

सीएम योगी ने कोरोना को लेकर की बैठक, कहा- कम न पड़ें वेंटिलेटर

UP: अब चुनाव प्रचार व सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल हो सकेंगे इतने लोग

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बैठक आयोजित की। इस बैठक में मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य और प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा मौजूद रहे। इस दौरान सीएम योगी ने प्रशासनिक अधिकारियों को कोविड 19 से जनता को बचाने के लिए दिशा-निर्देश दिए।

कोविड-19 के लिए बने प्रभावी रणनीति

सीएम योगी ने कहा कि कोविड 19 से लड़ने के लिए प्रभारी रणनीति बनाई जाए। उन्होंने कहा कि कोविड या कोरोना के उपचार के लिए सारी व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त रखी जाएं। इसके साथ ही कोविड के लिए बने एल-2 और एल-3 अस्पातलों में वेंटिलेटर्स की व्यवस्था रहे और उसमें कोई कमी न रहे। इसके साथ ही एचएफएनसी की व्यवस्था भी बरकरार रहे।

लक्षित आयु वर्ग के लोग लगवा लें टीका

मुख्यंत्री योगी ने कहा कि लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गाजियाबाद, गोरखपुर और सरारनपुर में प्राथमिकता के आधार पर लक्षित आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण अवश्य करवाया जाए।

इसके साथ ही सीएम योगी ने जनता से आह्वान किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 अप्रैल को महात्मा ज्योतिबा फुले से लेकर 14 अप्रैल तक बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की जयंती तक टीका उत्सव मनाने का आह्वान किया है।

संस्थाओं में आएं सिर्फ 50 फीसदी कर्मी

इसके लिए सभी लक्षित आयु वर्ग के लोग इस टीका उत्सव में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें। उन्होंने कहा कि इस टीका उत्सव को सफल बनाया जाए इसके लिए कार्ययोजना बनाई जाए। वहीं इस दौरान मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन कराया जाए।

वहीं अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने सीएम योगी के निर्देश को आगे बढ़ाते हुए अधिकारियों से कहा कि सरकारी और प्राइवेट संस्था में रोजाना पचास फीसदी ही कर्मचारी आएं। इससे कोरोना को रोकने में मदद मिलेगी।

बलरामपुर अस्पताल में बने कोविड हास्पिटल

इसके अलावा सीएम योगी ने कहा कि बलरामपुर हास्पिटल में 300 बेड का कोविड अस्पताल बनाया जाए, वहीं एरा मेडिकल कालेज, टीएस मिश्रा मेडिकल कालेज को पूरी तरीके से कोविड अस्पताल के रूप में परिवर्तित किया जाए।

सीएम योगी ने हर दिन कम से कम दो लाख कोरोना टेस्ट करने का भी निर्देश जारी किया है।

इसमें एक लाख टेस्ट आरटीपीसीआर विधि से करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने निगरानी समितियों को पूरी तरीके से सक्रिय करने का भी निर्देश जारी कया है।

सीएम योगी ने कहा कि कांटैक्ट ट्रेसिंग का काम और इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का काम प्रभावी तरीके से करने का निर्देश दिया है। वहीं गांव-गांव लोगों को जागरूक करने का आदेश भी अधिकारियों को दिया है।

सीएम योगी और राज्यपाल करेंगे संवाद

बता दें कि कोरोना टीकाकरण को लकेर जागरुकता फैलाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल 11 अप्रैल को राजनीतिक दलों के अध्यक्षों तथा सदन के दलीय नेताओं के साथ संवाद करेंगे। वहीं 12 अप्रैल को समस्त महापौर एवं पार्षदों के साथ तो 13 अप्रैल को सीएम और राज्यपाल धर्मगुरुओं के साथ कोरोना को लेकर संवाद करेंगे।

Related posts

चीन का दावा लद्दाख सीमा संघर्ष में कोई भारतीय सैनिक नहीं मरा

Samar Khan

बुलंदशहर हिंसा: एडीजी का दावा, इलाके में है पूरी तरह शांति, मुख्य आरोपी अभी भी फरार

mahesh yadav

अचानक से शराब को हलाल क्यों बता रहे मुस्लिम धर्म गुरू?

Mamta Gautam