February 7, 2023 8:19 pm
featured उत्तराखंड

सीएम रावत ने पूर्व कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत को उत्तराखण्ड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए जाने पर बधाई दी

cm rawat 1 सीएम रावत ने पूर्व कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत को उत्तराखण्ड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए जाने पर बधाई दी

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने कालाढूंगी से विधायक वंशीधर भगत को उत्तराखंड का नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। गुरुवार को उन्हें निर्विरोध उत्तराखंड प्रदेश बीजेपी का अध्यक्ष चुना गया। 69 वर्षीय भगत नैनीताल से लोकसभा सांसद अजय भट्ट से कार्यभार ग्रहण करेंगे। भट्ट पिछले साल अध्यक्ष पद का अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद से सेवा विस्तार पर थे।

बता दें कि चुनाव प्रक्रिया संपन्न होने के बाद पार्टी के केंद्रीय प्रेक्षक और केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने देहरादून में इसकी घोषणा करते हुए कहा कि भगत का पद पर निर्वाचन निर्विरोध हुआ है। भगत पूर्व में प्रदेश में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। दो साल बाद होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों को अपनी शीर्ष प्राथमिकता बताते हुए भगत ने कहा कि वह चुनावों में बीजेपी की जोरदार विजय सुनिश्चित करने के लिए हर पार्टी कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढाएंगे। भगत के अध्यक्ष चुने जाने के बाद केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि पार्टी को उनके लंबे राजनीतिक अनुभव का बहुत फायदा मिलेगा।

भगत ने 1975 में राजनीति में कदम रखा था, जब वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से प्रभावित होकर जनसंघ में शामिल हुए थे। भगत के पूर्ववर्ती भट्ट दिसंबर 2015 में प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बने थे और उनका कार्यकाल दिसंबर 2018 में समाप्त हो गया था। हालांकि, उसके बाद उन्हें एक साल का सेवा विस्तार दिया गया था। भट्ट की अगुवाई में हुए पिछले विधानसभा चुनावों में पार्टी शानदार और ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए 70 में से 57 सीटों पर विजय हासिल कर सत्ता में आई थी। इसके बाद 2019 में हुए लोकसभा चुनावों में भी पार्टी ने पांचों सीटें अपने कब्जे में बरकरार रख प्रदेश में इतिहास बनाया था।

Related posts

प्रयागराजः शराब की ऑनलाइन बिक्री के लिए दायर याचिका खारिज, HC ने दिया ये जवाब

Shailendra Singh

बीजेपी में शामिल होंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह?, दिल्ली में अमित शाह से कर सकते हैं मुलाकात, अटकलें तेज

Saurabh

कल्याण सिंह समेत इन नेताओं को नहीं मिला राम जन्मभूमि पूजन का न्यौता, वजह कर देगी हैरान

Rani Naqvi