nitish बिहार में भी पैर पसार रहा कोरोना, सीएम नीतीश ने की हाई लेवल मीटिंग

देश में बढ़ते मामलों के बीच बिहार में 5 महीने बाद कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। पिछले 24 घंटों में राज्य में 1080 मामले सामने आए, जबकि 2 लोगों की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के ताजा आकंड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में 81,314 सैंपलों की जांच की गई है। जिसके बाद राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 4,954 हो गई है।

पटना में सबसे ज्यादा मामले

राज्य में सबसे ज्यादा 486 मामले पटना से सामने आए हैं। इसके अलावा मुजफ्फरपुर से 60, भागलपुर से 61, जहानाबाद से 54, गया से 41, दरभंगा से से 27, रोहतास से 23, औरंगाबाद से 21, नालंदा से 20, मुगेर से 18, वैशाली से 17, पूर्णिया से 16, शेखपुरा से 14, बक्सर से 12 और सारण से 11 संक्रमितों की पुष्टि हुई है।

बिहार सरकार ने गाइडलाइन की जारी

बढ़ते केस को देखते हुए बिहार सरकार ने गाइडलाइन जारी करते हुए कहा कि श्राद्ध में केवल 50 लोग और शादी विवाह के कार्यक्रम में 250 लोगों को शामिल करने की इजाजत हैं। वहीं बसों में क्षमता से आधी सवारी बैठाने की इजाजत दी गई है। सभी जिलाधिकारी और पुलिस अधिक्षक सुनिश्चित करेंगे कि कार्यस्थल, धार्मिक स्थल, होटेल, रेस्टोरेंट आदि का संचालन दिशा-निर्देश के तहत ही हो।

मुख्यमंत्री नीतीश की हाई लेवल मीटिंग

बिहार में 2 लाख 70 हजार से ज्यादा मरीज कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। जिनमें से 2 लाख 63 हजार 849 लोग सही होकर घर जा चुके हैं। तो वहीं राज्य में कोरोना वायरस से 1,588 मरीजों की मौत हो चुकी है। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाई लेवल मीटिंग की। सीएम ने निर्देश दिया कि सभी फ्रंटलाइन और हेल्थ केयर वर्कर की कोरोना जांच कराएं, अगर कोई पॉजिटिव आता है तो उसके परिजनों की भी जांच कराई जाए। साथ ही कोरोना के मामलों को देखते हुए टेस्टिंग बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं।

भाजपा संगठन महामंत्री सुनील बंसल व राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार रविंद्र जायसवाल कोरोना संक्रमित

Previous article

स्‍मार्ट मीटर बना दुश्‍वारियों का सबब, इतने उपभोक्‍ताओं ने कटवाए कनेक्‍शन

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured