uttrakhand प्रमुख सचिव मनीषा पवार ने ग्राम स्वराज अभियान के सफल आयोजन के संबंध में बैठक की

देहरादून। प्रमुख सचिव पंचायती राज मनीषा पंवार ने बताया कि प्रदेश में 14 अप्रैल, 2018 से 05 मई, 2018 तक ग्राम स्वराज अभियान संचालित किया जायेगा। इस अभियान की शुरूआत 14 अप्रैल को सामाजिक न्याय दिवस के रूप में होगी। अभियान के दौरान 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस, 20 अप्रैल को उज्ज्वला दिवस, 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस, 28 अप्रैल को ग्राम स्वराज दिवस, 30 अप्रैल को आयुष्मान भारत दिवस, 02 मई को किसान कल्याण दिवस तथा 05 मई को आजीविका दिवस के रूप में मनाया जायेगा।

uttrakhand प्रमुख सचिव मनीषा पवार ने ग्राम स्वराज अभियान के सफल आयोजन के संबंध में बैठक की

बता दें कि बीते मंगलवार को सचिवालय में इस अभियान को सफलतापूर्वक आयोजित किये जाने के संबंध में सभी सम्बंधित विभागीय अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रमुख सचिव श्रीमती पंवार ने कहा कि सभी संबंधित विभाग अभियान के सफल संचालन के लिये अपनी कार्ययोजना अविलम्ब अपर सचिव पंचायती राज को उपलब्ध करा दें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये है कि इस अभियान के लिये राज्य, जनपद व ब्लॉक स्तर पर सम्बंधित विभाग नोडल आॅफिसर भी नामित करेंगे। जनपदों में मुख्य विकास अधिकारी तथा ब्लॉक स्तर पर जिलाधिकारी किसी अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित करेंगे। उन्होंने विभागों से जिलाधिकारी से भी समन्वय बनाये जाने को कहा।

वहीं प्रमुख सचिव पंवार ने कहा कि विभिन्न दिवसों पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम राज्य, जनपद व ब्लॉक स्तर पर एक साथ आयोजित किये जायेंगे ताकि योजनाओं की जानकारी तथा उनकी पहुंच संबंधित लाभार्थी तक पहुंच सकें। उन्होंने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य सामाजिक सद्भाव, गरीब ग्रामीण परिवारों तक पहुंच बनाना, चलाये जा रहे कार्यक्रमों पर फीडबैक प्राप्त करना, किसानों की आय दोगुनी करना, आजीविका के अवसर पैदा करना एवं स्वच्छता और पंचायती राज को मजबूती प्रदान कर इनमें लोगों की भागीदारी को बढ़ावा देना है। इसमें इस बात का ध्यान रखा जाए कि इस अभियान में समाज के हर वर्ग की भागीदारी सुनिश्चित हो ताकि अभियान सार्थक, प्रेरक और जानकारी पूर्ण हो। इसमें आमजन की भागीदारी, महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी, सूक्ष्म, प्लानिंग और व्यवस्थित माॅनिटरिंग का ध्यान रखा जाए। बैठक में उन्होंने कहा कि इन दिवसों के आयोजन में जनप्रतिनिधियों की भी भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए।

प्रमुख सचिव श्रीमती पंवार ने बताया कि इस अभियान के अन्तर्गत आयोजित होने वाले दिवसों की कार्यसूची सभी विभागों को उपलब्ध करा दी गई है। इसके आधार पर कार्ययोजना बनायी जाए तथा योजनाओं के क्रियान्वयन व उससे लाभान्वित होने वाले लोगों को इस अवसर पर सम्मानित करने के भी प्रयास हों।

साथ ही सचिव सूचना तथा कौशल विकास डॉ.पंकज कुमार पाण्डेय ने कहा कि आजीविका दिवस के अवसर पर प्रदेश, जनपद व ब्लॉक स्तर पर पैनल डिस्कशन, महिला सशक्तिकरण व आजीविका उद्यमिता, कौशल विकास व सामाजिक विकास पर चर्चा आयोजित किये जाने के साथ ही इसके लिये सभी जनपदों में स्किल वेन संचालित की जायेगी। जिसमें सभी संबंधित विभाग अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी विभाग विभिन्न अभियान दिवसों से संबंधित कार्यक्रमों व संचालित योजनाओं आदि का विवरण सूचना विभाग को उपलब्ध करायें ताकि उसका राज्य व जनपद स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा सकें तथा इसका डाक्यूमेंटेशन किये जाने में मदद मिल सकें।

उन्होंने इसके लिये सूचना विभाग के संयुक्त निदेशक श्री आशीष कुमार त्रिपाठी को नोडल अधिकारी नामित किया है। जनपदों में प्रचार-प्रसार का दायित्व संबंधित जनपदों के जिला सूचना अधिकारी का रहेगा। बैठक में अपर सचिव पंचायती राज श्री एच.सी.सेमवाल, अपर सचिव ग्राम्य विकास श्री राम विलास यादव, अपर सचिव श्री अर्जुन सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    वीडियोकॉन लोन मामलाः एसएफआईओ ने कॉरपोरेट मंत्रालय से मांगी जांच की अनुमति

    Previous article

    PNB फ्रॉडः सीवीसी ने कहा, आरबीआई ने सही ऑडिटिंग नहीं की

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured