naxalite area 1 छत्तीसगढ: बीजापुर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 22 जवान शहीद 31 घायल और 1 लापता

बीजापुर: छत्तीसगढ में एक बार  फिर नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर हमले को अंजाम दिया।  ताजा खबर के मुताबिक बीजापुर जिले में हुए नक्सली हमले  20 और जवानों के शव बरामद कर लिए गए हैं। सूबे के डीजी डीएम अवस्थी ने इस बात की पुष्टि की है। अबतक कुल 22 शव बरामद हो चुके हैं वहीं 31 जवान घायल हैं और एक जवान लापता है. इस दुखद घटना के कारण गृहमंत्री अमित शाह अमित शाह ने अपना चुनावी दौरा रद्द कर दिया और दिल्ली वापस लौट रहे है.

शहीद होने वाले जवानों की संख्या पहुंची

सूत्रों के मुताबिक, बीजापुर के एसपी कामालोचन कश्यप के मुताबिक शहीद होने वाले जवानों की संख्या 22 पहुंच गई है। 15 शव आज बरामद हुए है और पांच कल ही बरामद कर लिए गए थे। नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद आज यानी रविवार को 17 और शव बरामद हुए हैं। शनिवार को बस्तर में हुए नक्सलियों के साथ एनकाउंटर के बाद से 21 जवान लापता है सर्च आपरेशन के दौरान सुरक्षाकर्मियों को 17 और शव मिले हैं बता दे कि कल पांच जवान शहीद हो गए थे। और करीब 30 जवानों को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती किया गया है।

घटनास्थल से एक महिला नक्सली का शव बरामद 

नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 21 जवान लापता है जिनकी खोज जारी है । पुलिस अधिकारियों के मुताबिक सुरक्षाबलों को घटनास्थल से एक महिला नक्सली का शव बरामद किया है। शनिवार को हुए इस हमलें में नक्सलियों को भी काफी नुकसान होने की होने की खबरे सामने आ रहीं है।

नक्सलियों ने तीन तरीके से किया हमला 

नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर तीन तरीके से हमला किया पहला बुलेट से दूसरा नुकीले हथियारों से और तीसरा देसी रॉकेट लॉन्चर से, करीब 200 से 300 नक्सलियों का समूह सुरक्षाबलों पर टूट पड़ा। नक्सलियों के इस क्षेत्र में सुरक्षा बलों का ऑपरेशन अब भी जारी है। डीजी सीआरपीएफ ने बताया 12 से 15 नक्सली को सुरक्षाबलों ने अब तर ढेर कर दिया है। 20 नक्सलियों के घायल होने की खबर है यह नक्सलियों के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन है।

 पीएलजीए और तर्रेम के के सुरक्षा के साथ हुई मुठभेड़

बस्तर इलाके में शनिवार को दोपहर लगभग 12 बजे जोनागुड़ा गांव के पास नक्सलियों की पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी ( पीएलजीए ) बटालियन और तर्रेम के सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई थी। करीब तीन घंटे तक चले इस आपरेशन में पांच जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालो में कोबरा बटालियन का एक जवान बस्तरिया बटालियन का दो जवान और डीआरजी के दो जवान शामिल है। जबकि 30 जवान घायल हो गए। घायल हुए 23 जवानों को बीजापुर के अस्पताल में जबकि 7 जवानों को रायपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने व्यक्त किया गहरा शोक 

छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मामले पर गहरा शोक व्यक्त किया और कहा हमारे जवानों की शहादत हम बेकार नहीं जाने देंगे उन्होंने कहा, 7 जवान जिन्हे रायपुर अस्पताल भर्ती कराया गया था वो अभी खतरे से बाहर है। 21 जवान लापता है बचाव दल उनकी तलाश कर रहा है। उन्होंने कहा उन्हें गृहमंत्री अमितशाह का फोन आया था उन्होंने सीआरपीएफ महानिदेशक को राज्य में भेजा है और मैं शाम को छत्तीशगढ लौटेंगे ।

गृहमंत्री ने हर संभव मदद का दिया आश्वासन 

गृहमंत्री अमितशाह ने नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच हुई इस मुठभेड़ में शहीद हुए परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की और कहा, हम उनकी शहादत को नहीं भूलेंगे गृहमंत्री ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को फोन किया और हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।

ऑनलाइन एग्‍जाम में सर्वर डाउन, छात्रों ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में किया हंगामा

Previous article

UP: सीएम योगी का निर्देश, बिना मास्‍क वालों को न करने दिया जाए सफर

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured