live Chamoli disaster: अलकनंदा नदी में अचानक तेज बहाव, रोकना पड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन

तपोवन के टनल में फंसे लोगों को रेस्‍क्‍यू करने में हर रोज नई चुनौतियों का सामना करना पड़ा रहा है, आज अचानक से अलकनंदा नदी में बहाव के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन को बीच में ही रोकना पड़ा है।

तपोवन से ताजा अपडेट ये है कि नदी में अचानक जलस्तर बढ़ने के कारण राहत बचाव कार्य को तुरन्त रोकते हुए रेस्क्यू टीम, सभी उपकरणों के साथ सुरंग से बाहर निकल चुकी है। साथ ही इसके चलते आसपास के क्षेत्र में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है।

बता दें कि रेस्क्यू में बदलाव करते हुए गुरुवार तड़के सुबह से ही टनल में ड्रिलिंग का काम शुरू कर किया गया था, पर बढ़ते हुए जल स्तर को देखकर ड्रिलिंग का काम बीच में रोकना पड़ा है और अब फिर से मुख्‍य टनल से मलबा हटाने का काम शुरू किया जा रहा है। इस बारे में एनटीपीसी के परियोजना निदेशक उज्जवल भट्टाचार्य ने बताया है “हम 6 मीटर की दूरी तक पहुंच गए थे और फिर हमने देखा किया कि वहां पानी आ रहा है। अगर हम काम जारी रखते तो चट्टानें अस्थिर हो सकती थीं, इससे समस्या हो जाती। इसलिए हमने ड्रिलिंग ऑपरेशन को कुछ समय के लिए रोक दिया है”।

वहीं नदी में पानी के बढ़ते स्तर को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने आस-पास के क्षेत्र में रहने वाले लोगों को भी सतर्क किया है और निचले इलाकों को खाली करने के आदेश दिए हैं।

बता दें कि चमोली में आए इस प्राकृतिक आपदा में अभी तक 170 से ज्यादा लोग लापता हैं, वहीं 32 लोगों के शव और 10 क्षत विक्षत मानव अंग बरामद हुए हैं। लापता लोगों की तलाश में नौसैनिकों ने कोटेश्वर झील में सर्च ऑपरेशन भी चलाया है, जिसके लिए प्रभावित क्षेत्र के साथ ही अलकनंदा नदी के तटों पर भी खोजबीन की जा रही है।

नमामि गंगे योजना में हरी-भरी होगी काशी, किसानों को ऐसे मिलेगा लाभ

Previous article

राज्यपाल को हवाई सेवा देने से महाराष्ट्र सरकार का इनकार , कहा कि अपने व्यक्तिगत खर्चे पर ही करे यात्रा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.