सीबीएसई पेपर लीक मामला: क्राइम ब्रांच ने दो अलग-अलग केस किए दर्ज

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की एसआईटी ने सीबीएसई पेपर लीक मामले में जांच शुरू कर दी है। ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया कि सीबीएसई की तरफ से दी गई शिकायत के आधार पर दोनों केस दर्ज किए गए हैं। पहला केस इकोनॉमिक्स का पेपर लीक होने के संबंध में बुधवार को दर्ज किया था। वहीं 10वीं का पेपर लीक होने का मामला आज दर्ज किया गया है। ये मामले धोखाधड़ी, आपराधिक षडयंत्र और आपराधिक विश्वासघात के आरोप में दर्ज किए गए हैं।

25 लोगों से पूछताछ

इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कई इलाकों में बीती रात छापेमारी की। इतना ही नहीं पुलिस ने इस मामले में करीब 25 लोगों से पूछताछ की है, जिसमें अधिकतर छात्र हैं जिनके पास हाथ से लिखा प्रश्न पत्र था। पुलिस इस मामले में पता लगाने में जुटी है की आखिरकार ये पेपर कहां से लीक हुआ और व्हाट्सएप पर कैसे लोगों तक पहुंचा।

राजेंद्र नगर के एक व्यक्ति पर शक

क्राइम ब्रांच को दी शिकायत में राजेंद्र नगर के एक व्यक्ति की भूमिका पर शक जताया गया है। यह व्यक्ति एक कोचिंग सेंटर भी चलाता है। वहीं अभिभावकों ने गणित और अर्थशास्त्र के पेपर दोबारा कराने के फैसले के खिलाफ अभिभावकों ने ऑनलाइन पिटिशन शुरू की है। अब तक 4 हज़ार से भी ज्यादा अभिभावक जुड़ चुके हैं।

कमिश्नर को किया अपडेट

क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से बुधवार शाम जांच के बारे में अपडेट किया। दिल्ली पुलिस ने कई इलाकों में बीती रात छापेमारी की है। दिल्ली पुलिस ने एक बयान जारी करके कहा कि सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक की शिकायत पर उन्होंने दो केस दर्ज किए हैं।