featured Breaking News देश बिज़नेस

बजट 2018: रामनाथ कोविंद ने कहा बुजुर्गों की सामाजिक सुरक्षा के लिए मेरी सरकार वचनबद्ध

budget alat yojana बजट 2018: रामनाथ कोविंद ने कहा बुजुर्गों की सामाजिक सुरक्षा के लिए मेरी सरकार वचनबद्ध

नई दिल्ली। सोमवार के बजट सत्र में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पीएम मोदी के कई योजनाओं पर अभिभाषण दिया। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी’ के अंतर्गत गरीबों को घर बनाने के लिए ब्याज दर में 6 प्रतिशत की राहत दी जा रही है। सभी सिर पर छत हो पानी बिजली मिले इस संवेदनशील सोच के साथ सरकार देश के हर आवासीन गरीब परिवार को वर्ष 2022 तक हर घर उपलब्ध कराने पर काम कर रही है।

 

budget alat yojana बजट 2018: रामनाथ कोविंद ने कहा बुजुर्गों की सामाजिक सुरक्षा के लिए मेरी सरकार वचनबद्ध

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों में शहरी और ग्रामीण इलाकों में 93 लाख से अधिक घरों का निर्माण किया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंतर्गत वर्ष 2015-2022 को दौरान शहरी क्षेत्र के लिए सबके लिए आवास मिशन है जिसके तहत वर्ष 2022 तक सभी परिवारों को आवास यानी सबको घर मिलेगा।एक लाभार्थी परिवार में पति, पत्नी, अविवाहित पुत्र और/अथवा अविवाहित लड़कियां शामिल होंगे।

कोविंद ने अटल योजना पर बात करते हुए कहा कि उन्होंने कहा, बुजुर्गों की सामाजिक सुरक्षा के लिए भी मेरी सरकार वचनबद्ध है। ‘अटल पेंशन योजना’ के तहत लगभग 80 लाख वरिष्ठ नागरिक लाभान्वित हो रहे हैं।

अटल योजना-
अटल पेंशन योजना में ना केवल आप कम राशि जमा करवाकर हर माह ज्यादा पेंशन के हकदार हो सकते हैं, बल्कि असामयिक मृत्यु की दशा में अपने परिवार को भी इसका फायदा दिलवा सकते हैं । इस पेंशन योजना के धारक की मृत्यु होने पर उसकी पत्नी और पत्नी की भी मृत्यु होने की स्थिति में बच्चों को पेंशन मिलती रहेगी। सबसे खास बात यह है कि जीवनभर पेंशन पाने के लिए आपको आजीवन इस खाते में पैसे जमा नहीं करवाने होते हैं। साथ ही पीएफ खाते की ही तरह सरकार इस पेंशन योजना में अपनी ओर से भी अंशदान देगी।सरकार की घोषणा के मुताबिक 18 से 40 वर्ष की आयु के बीच का कोई भी व्यक्ति इस योजना में शामिल हो सकता है।

उज्जवला योजना-
रामनाथ कोविंद ने कहा कि उज्जवला योजना के तहत महिलाओं के लिए अच्छी योजना की शुरुआत हुई है।प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) के तहत सरकार का उद्देश्य देश के सभी BPL धारक परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराना है। योजना का उद्देश्य ग्रामीण भारत में खाना पकाने के लिए इस्तेमाल होने वाले अशुद्ध ईंधन की जगह स्वच्छ और अधिक कुशल रसोई गैस (LPG) का उपयोग करना है।

Related posts

गिरफ्तार होने के बाद अमिताभ ठाकुर बोले- मेरी हत्या भी करा सकते हैं योगी आदित्यनाथ

Shailendra Singh

बंगाली आती है तो ही जाएं बंगाल वरना उठाना पड़ सकता है बड़ा नुकसान?

bharatkhabar

कानपुर के दौरे पर आज पीएम मोदी, नमामी गंगे’ परियोजनाओं का हाल और उसमें गिर रहे नालों का लेंगे जायजा 

Rani Naqvi