September 21, 2021 1:28 pm
featured यूपी

कानपुरः मौत के 20 साल बाद भी जिंदा थीं बैंडिट क्वीन, कोर्ट ने जारी किया था वारंट

कानपुरः मौत के 20 साल बाद भी जिंदा थीं बैंडिट क्वीन, कोर्ट ने जारी किया था वारंट

कानपुरः बैंडिट क्वीन यानी फूलन देवी की मौत को बीस साल बीत चुके हैं, लेकिन सरकारी कागजों में वह आज तक जिंदा थीं। आखिरकार जब पुलिस ने कोर्ट में फूलन की मौत का प्रमाण पत्र पेश किया, तब कहीं जाके ये मुकदमा खत्म हुआ। आलम ये है कि कोर्ट में अभी तक मरे हुए व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा चलता रहा।

41 साल से चल रहा था केस

दरअसल, डकैती का ये मुकदमा पिछले 41 सालों से चल रहा था। 27 जनवरी 1980 में घटना हुई थी। भोगनीपुर क्षेत्र के करियापुर गांव में हत्या और डैकती की वारदात को अंजाम दिया गया था। इस मामले में कालपी के शेरपुर गुढ़ा गांव की रहने वाली दस्यु सुंदरी फूलन देवी और गौहानी के रहने वाले विक्रम मल्लाह का नाम सामने आया था। वहीं, फूलन देवी और विक्रम मल्लाह सहित गिरोह के अन्य सदस्यों पर भी मामला दर्ज किया गया था।

मौत के बाद भी जारी रहा मुकदमा

दुर्दांत डकैत विक्रम मल्लाह को पुलिस ने एनकाउंटर में 12 अगस्त 1980 में ढेर कर दिया था। विक्रम की मौत की पुष्टि भी पुलिस ने कोर्ट में 18 साल बाद की थी। जिसके बाद सन् 1998 में विक्रम मल्लाह के खिलाफ चल रही सुनवाई को खत्म कर दिया था। हालांकि, बाद में फूलन देवी ने सरेंडर कर दिया था। इसके बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा और सांसद भी बनीं, लेकिन 2001 में फूलन देवी की हत्या कर दी गयी। उनकी हत्या के बाद भी कोर्ट में ये केस चलता रहा।

कोर्ट में पेश किया मृत्यु का प्रमाण

दरअसल, पुलिस ने फूलन देवी की मौत का प्रमाण कोर्ट में पेश नहीं किया। इस दौरान कोर्ट ने फूलन के खिलाफ NBW यानी कि गैरजमानती वारंट जारी किया, तो पुलिस ने फूलन के गांव पहुंच कर प्रधान से उसका मृत्य प्रमाण पत्र लिया। जिसे अपनी रिपोर्ट के साथ अटैच कर कानपुर देहात की एंटी डकैती कोर्ट में पेश किया। इसमें बताया गया कि फूलन देवी की मौत 25 जुलाई 2001 को हो चुकी है। इस बात का संज्ञान लेते हुए मंगलवार को कोर्ट ने उनके खिलाफ मुकदमा खत्म करने का आदेश दे दिया।

Related posts

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस में सीटों को लेकर शुरू हुई बगावत, जाने क्या है हाल

Rani Naqvi

राकांपा प्रमुख शरद पवार का एलान, नहीं लड़ेंगे 2019 लोकसभा चुनाव

mahesh yadav

पाक ने किया सीज फायर का उल्लघंन, एक नागरिक घायल

Rani Naqvi