September 21, 2021 5:52 pm
featured यूपी

48 घंटे से नहर में पड़े शव से बेखबर रही असोथर पुलिस, शव के अपमान पर भी बनी मूकदर्शक

48 घंटे से नहर में पड़े शव से बेखबर रही असोथर पुलिस, शव के अपमान पर भी बनी मूकदर्शक     

फतेहपुर: असोथर थाना क्षेत्र में पिछले 48 घंटों से एक अज्ञात शव नहर में पड़ा रहा और पुलिस को मामले की जानकारी ही नहीं हुई। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस के सामने ही शव का अपमान होता रहा और पुलिस मूक दर्शक बनी रही। ऐसे में ना केवल पुलिस की गश्ती पर सवाल उठ रहे हैं बल्कि नए इंस्पेक्टर को अपराधी चुनौती भी दे रहे हैं।

शव की नहीं हो पाई शिनाख्‍त

कठौता माइनर में देर शाम पांच बजे के आसपास पुलिस का जमावड़ा होता है। यहां पर दो उप निरीक्षक और चार कांस्टेबल पहुंचते हैं। कुछ ही देर बाद माइनर में फंसे शव को निकालने का प्रयास किया जाता है। पुलिस शव की पहचान कराने का प्रयास करती है, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर अज्ञात शव का पंचनामा करते हुए उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक का शव 40 से 45 वर्ष के बीच बताया जा रहा है। उसके दाएं हाथ में कलावा बंधा हुआ है और आंख, नाक में कट के निशान हैं।

मृतक के दाएं सिर के पीछे भी कट का निशान है। मरने वाला फ्लिक कंपनी की जीन्स पहने हुए है, जो पैर के पास से मुड़ी हुई है। जीन्स में चमड़े का बेल्ट लगा हुआ है। इसके साथ ही नील रंग की पड़ी लाइनिंग वाली टी-शर्ट पहने हुए है। लक्स कंपनी की बनियान और नीले रंग का अंडरवियर पहने हुए है।

मृतक के हत्या की आंशका

मृतक का शव करीब 48 घंटे से अधिक पुराना बताया जा रहा है। शव पूरी तरह से फूल कर अकड़ चुका था। साथ ही वह दुर्गंध से भरा हुआ था। शव में चोट के निशान होने से मृतक की हत्या कर उसे माइनर में फेंके जाने की संभावना है। हालांकि, मौके पर पुलिस कुछ भी कहने से बचती रही तो वहीं क्षेत्राधिकारी थरियांव अनिल कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

पुलिस के सामने शव का अपमान   

असोथर पुलिस के सामने ही अज्ञात शव का अपमान होता रहा। जिन्होंने शव को निकाला वह मृतक के गर्दन में रस्सी फंसाकर शव को मनमाने तरीके से खींचते रहे। इतना ही नहीं कहीं शव को न केवल बेतरतीब तरीके से पटका जा रहा था बल्कि अकड़े हुए शव पर चोट भी की जा रही थी। ऐसे में खुलेआम शव के साथ अपमान किया जाता रहा और पुलिस मूक दर्शक बनी रही। हालांकि, शव के अपमान का कोई वीडियो न बना ले, इस पर पुलिस का पूरा ध्यान रहा।

“शव के साथ छेड़छाड़ होना बेहद शर्मनाक है। किसी भी हालात में ऐसा नहीं होना चाहिए। मामले पर जांच होगी और भविष्य में ऐसा न हो इसके लिए चेतावनी भी दी जा रही है। मृतक के बारे में पोस्टमार्टम के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।”

अनिल कुमार, पुलिस उपाधीक्षक, फतेहपुर

Related posts

कानपुर में कोल्ड स्टोरेज बिल्डिंग गिरी, कई लोगों के दबे होने की आशंका

shipra saxena

वाजपेयी के अंतिम दर्शन के लिए पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका और नेपाल के वरिष्ठ नेता भारत पहुंचेंगे

rituraj

पीएम मोदी का जांगला में शो रहा फ्लॉप: गोमासे

Rani Naqvi