September 19, 2021 12:58 am
featured दुनिया

अफगानिस्तान की हार, तालिबानी सरकार?, राष्ट्रपति अशरफ गनी ने छोड़ा देश

taliban अफगानिस्तान की हार, तालिबानी सरकार?, राष्ट्रपति अशरफ गनी ने छोड़ा देश

Afghanistan Taliban War: अफगानिस्तान में सत्ता फिर से तालिबान के हाथों में आ गई है। एक बार फिर तालिबान अपने पैरों पर खड़ा है, मजबूत हो रहा है। उसके लड़ाकों को काबुल में घुसने का फरमान मिल चुका है। अफगानिस्तान के ज्यादातर हिस्सों पर तालिबान ने अपना कब्जा जमा लिया है। महज 103 दिनों में ही तालिबान ने अफगानिस्तान की सेना को घुटनों पर ला दिया। इधर अब राष्ट्रपति भवन पर रविवार की रात तालिबान ने कब्जा कर लिया है। उधर, राष्ट्रपति के अशरफ गनी तजाकिस्तान भाग गए हैं। खबर है कि अशरफ गनी अपनी कोर टीम के सदस्यों के साथ तजाकिस्तान भाग गए हैं। इस बीच उनके सलाहकार ने इस रिपोर्ट को खारिज किया है। उनका दावा किया है कि अशरफ गनी देश छोड़कर नहीं गए हैं। इधर, अलजजीरा के हवाले से काबुल एयरपोर्ट पर फायरिंग की भी खबर आ रही है।

दूसरी तरफ अमेरिका ने अपना दूतावास काबुल एयरपोर्ट पर शिफ्ट कर दिया है। दूतावास का झंडा उतारकर काबुल एयरपोर्ट लाया गया है। अफगानिस्तान में अमेरिका के कार्यवाहक राजदूत को अमेरिकी सेना दूतावास से निकालकर काबुल हवाई अड्डे ले गई। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटी ब्लिंकन ने तालिबान के कब्जे को लेकर अफगानिस्तान की सेना को जिम्मेदार ठहराया है।

अफगानिस्तान के HCNR प्रमुख अब्दुल्ला ने सुरक्षाबलों से कहा कि वह शांति व्यवस्था को सुनिश्चित करने में सहयोग करें। उन्होंने तालिबान से कहा कि वह काबुल में घुसने से पहले बातचीत के लिए कुछ और समय दे। उन्होंने अशरफ गनी को पूर्व राष्ट्रपति करार दिया और कहा कि वह छोड़कर जा चुके हैं।

तालिबान के साथ नहीं रह सकते- मरुल्ला सालेह

इधर, अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने कहा कि वह तालिबान के साथ नहीं रह सकते हैं। उन्होंने कहा- मैं तालिबान के आगे कभी नहीं झुकेंगे। मैं लाखों लोगों को निराश नहीं करूंगा। लाखों लोगों ने मुझ पर भरोसा किया है।

Related posts

बिहारः एनडीए की बैठक में लोकसभा सीटों के बंटवारे पर तय आज होगी रणनीति

mahesh yadav

नोएडा में बिल्डरों को भूमि आवंटन पर रोक

bharatkhabar

ये हैं अनोखी मस्जिद यहां इशारों में पढ़ा जाएगा नमाज

Srishti vishwakarma