दुनिया

हार के बाद डेमोक्रेट नए नेता के चुनाव के लिए तैयार

Presendital Candidate Donal Trump हार के बाद डेमोक्रेट नए नेता के चुनाव के लिए तैयार

वाशिंगटन। डेमोक्रेटिक पार्टी 8 नवंबर को व्हाइट हाउस के लिए हिलेरी क्लिंटन की अप्रत्याशित चुनावी हार के बाद एक नए नेता का चुनाव करने की तैयारी कर रही है। जानकारी के अनुसार, डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी (डीएनसी) की अंतरिम अध्यक्ष डोना ब्रजील सांसद डेबी वासरमैन शुल्ज के इस्तीफे के बाद अस्थायी तौर पर पद पर बनी हुई हैं। शुल्ज को प्राइमरी में वर्मोट के सीनेटर बर्नी सैंडर्स की तुलना में क्लिंटन को जीत हासिल करने में समर्थन देने को लेकर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

presendital-candidate-donal-trump

राष्ट्रपति पद के साथ ही कई राज्यों की विधानसभा सीटों को हारने के बाद, सीनेट पर दोबारा नियंत्रण हासिल करने में नाकाम रहने के बाद डेमोक्रेट्स को आने वाले सालों में जीत की नई रणनीति बनाने के लिए एक नए नेता की जरूरत है। इस समय नए नेता के लिए पार्टी में अश्वेत अफ्रीकी-अमेरिकी कांग्रेस सदस्य कीथ एलिसन का नाम सबसे ऊपर है, जिन्हें पार्टी के सबसे अधिक प्रगतिशील नेताओं में से एक माना जाता है। कीथ के पास सैंडर्स, सीनेट में अल्पसंख्यक नेता हैरी रीड और प्रभावशाली नेता सेन एलिजाबेथ वॉरेन का समर्थन हासिल है।

हालांकि इस चुनाव में कई अन्य डेमोक्रेट्स के नामों पर भी विचार किया जा रहा है, जो पार्टी के लिए एक नए युग की शुरूआत के लिए बेहतर साबित हो सकते हैं। डीनएसी के वर्तमान उपाध्यक्ष रे बकले ने पिछले सप्ताह कहा था कि सहयोगी डेमोक्रेट्स ने उन्हें पार्टी के आंतरिक चुनावों में खड़े रहने का आग्रह किया है। वहीं, पार्टी के आखिरी पूर्णकालिक अध्यक्ष रहे हावर्ड डीन ने अपने पद को वापिस पाने की इच्छा जताई है।

पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की मांग करने वाले मैरीलैंड के पूर्व गवर्नर मार्टिन ओमैली ने पिछले शुक्रवार को कहा कि वह डीएनसी के नेतृत्व को लेकर गंभीरता से विचार कर रहे हैं क्योंकि वह श्वेत मतदाताओं का समर्थन जुटा सकते हैं, जिन्होंने फिलहाल डेमोकेट्र्स से मुंह फेर लिया है और साथ ही अल्पसंख्यकों का भी, जिनके साथ उनके करीबी रिश्ते हैं वहीं इस सूची में मौजूदा लेबर सेक्रेटी थॉमस पेरेस भी शामिल हैं।

Related posts

अफगान नीति तय नहीं कर पाना अब भी बड़ा मुद्दा: अमेरीकी सांसद

Rani Naqvi

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हैकरों ने की थी 21 राज्यों में हेरा-फेरी

Rani Naqvi

पाक पत्रकार की अपने देश को चेतावनी : भारत से लड़ोगे तो मिट जाओगे

shipra saxena