Breaking News featured देश भारत खबर विशेष यूपी

‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ पर नोएडा में हुआ 46 शौचालय का लोकर्पण, पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहीं ये बात

5ce77bb7 17a6 40f5 80ef 5d6c8a2bfc37 ‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ पर नोएडा में हुआ 46 शौचालय का लोकर्पण, पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहीं ये बात

नोएडा। विश्व भर में हर साल 19 नवंबर को ‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ के रूप में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक विश्व में आज भी आधी से अधिक आबादी खासतौर पर भारत में लोग बिना शौचालय के जीवनयापन करने को मजबूर है। यह स्वास्थ्य के लिहाज से काफी खतरनाक है। लोगों को टॉयलेट के इस्तेमाल और स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से ही हर साल 19 सितंबर को ‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ के रूप में मनाने की शुरूआत हुई। जिसके चलते आज नोएडा प्राधिकरण ने भी विश्व शौचालय दिवस मनाया। इसके साथ ही नोएडा में 46 टॉयलेट का लोकर्पण किया गया। यह कार्यक्रम सेक्टर 124 में GM राजीव त्यागी की अध्यक्षता में हुआ। विश्व शौचालय दिवस पर पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर कहा कि भारत ने # Toilet4All के अपने संकल्प को मजबूत किया है।

साल 2001 में हुई विश्व शौचालय दिवस की शुरूआत—

बता दें कि देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में आज के दिन विश्व शौचालय दिवस मनाया जाता है। ‘विश्व शौचालय दिवस’ का इतिहास बहुत ज्यादा पुराना नहीं है। साल 2001 में पहली बार इसकी शुरूआत विश्व शौचालय संगठन ने की थी। साल 2013 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी ‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ मनाने के प्रस्ताव को पास कर दिया गया था। बता दें कि विश्व शौचालय संगठन एक गैर लाभकारी संस्था है और यह दुनिया भर में स्वच्छता और शौचालय की स्थिति में सुधार लाने के लिए प्रयासरत है। इस बात में कोई दो राय नहीं है कि आज भी विश्व में कई करोड़ लोग शौचालय का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं या उनके पास इसकी सुविधा नहीं है। ऐसे में इस दिवस को मनाने के पीछे यही उद्देश्य और संदेश है कि विश्व के तमाम लोगों को 2030 तक शौचालय की सुविधा मुहैया करा दी जाए। गौरतलब है कि सयुक्त राष्ट्र के 6 सतत विकास लक्ष्यों में से एक यह भी है। इसी बीच नोएडा प्राधिकरण ने 46 टॉयलेट का लोकर्पण किया। इसके साथ ही 3 पिंक टॉयलेट का भी उद्घाटन किया गया। इस दौरान महेश शर्मा, विधायक पंकज सिंह रहे मौजूद, विधायक,सांसद और सीईओ आदि मौजूद रहे। चिनार इम्पेक्स के साथ मिलकर ये टॉयलेट बनवाए गए। इतना ही नहीं महिलाओ के लिए पिंक टॉयलेट में खास इंतेज़ाम किए गए हैं।

विश्व की 4.2 अरब आबादी के पास शौचालय की सुविधा नहीं—

टॉयलेट का इस्तेमाल करने से न केवल हमारा जीवन सुरक्षित रहता है बल्कि कई बीमारियों के प्रसार का जोखिम भी कम होता है। वहीं संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों पर गौर करें तो तकरीबन 4.2 अरब आबादी आज भी ठीक से शौचालय की सुविधा से महरूम है और गंदगी में जी रही है। वहीं 67.3 करोड़ आबादी खुले में शौच करती है। इतना ही नहीं 3 मिलियन लोगों के पास हाथ धोने की सुविधा नहीं है। चौंकाने वाली बात यह है कि विश्व में हर दिन 1 हजार बच्चों की मृत्यु का कारण खुले में शौच करना है।

 

Related posts

सिकन्दरा उपचुनाव: बीजेपी प्रत्याशी ने की जीत दर्ज, सपा के प्रत्याशी को 11 हजार से ज्यादा मतों से हराया

Breaking News

विधायक जी का रिपोर्ट कार्ड बतायेगा, पास होंगे या फेल

Aditya Mishra

काशी में श्मशान पर बजेगी संगीत, चिताओं की राख से होगी होली

bharatkhabar