कबडडी विश्व कप : सेमीफाइनल में थाईलैंड से भिड़ेगा भारत

अहमदाबाद। खिताब बचाने का लक्ष्य आंखों में लिए भारतीय टीम शुक्रवार को कबड्डी विश्व कप-2016 के सेमीफाइनल में थाईलैंड का सामना करेगी।भारतीय कप्तान अनूप कुमार ने यहां गुरुवार को द एरेना बाय ट्रांसस्टेडिया में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उनकी टीम इस मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार है लेकिन थाई टीम से कैसे निपटा जाएगा इसकी रणनीति बनानी अभी बाकी है। अनूप ने कहा, “हम अपने अगले मैच के लिए तैयार हैं। हमारा लक्ष्य विश्व कप खिताब है। थाई टीम से कैसे निपटना है इस पर आज शाम या फिर कल सुबह अभ्यास के दौरान रणनीति बनाई जाएगी।”

india_thailand

थाईलैंड ने ग्रुप-बी में शीर्ष पर रहते हुए सेमीफाइनल तक का रास्ता तय किया है। उसने अपने अंतिम ग्रुप मैच में बुधवार को जापान को कांटे के मुकाबले में हराते हुए अंतिम-4 का टिकट कटाया है। जापान और थाईलैंड के बीच हुए मुकाबले से पहले जो अंकतालिका थी उसके मुताबिक भारत का सामना ईरान से होता दिख रहा था क्योंकि भारतीय टीम ग्रुप-ए में दूसरे स्थान पर है जबकि ईरान की टीम पहले स्थान पर थी। तो क्या अब भारत को लगता है कि उसका सामना एक आसान प्रतिद्वंद्वी से हो रहा है, इस संबंध में भारतीय टीम के कोच बलवान सिंह ने आईएएनएस से कहा, “हम ऐसा नहीं मानते। हमारे लिए सभी टीमें बराबर हैं। वैसे हम इस कोण से मुकाबलों के बारे में नहीं सोचते। हम अपना कर्म करने पर यकीन रखते हैं बाकी सब कुछ ईश्वर पर है।”

भारतीय टीम ने ग्रुप स्तर पर पांच में से चार मैच जीते। अपने पहले ही मैच में उसे दक्षिण कोरिया के हाथों हार मिली थी। उस चौंकाने वाली हार के बाद भारतीय टीम ने खुद को सम्भाला और फिर लगातार चार जीत के साथ सेमीफाइनल में प्रवेश किया। कोरिया की टीम ईरान से भिड़ेगी। कोरिया ने अपने सभी पांच मैच जीते हैं। अगर ईरान ने कोरिया को हरा दिया तो फिर इस विश्व कप का ड्रीम फाइनल खेला जाएगा। कोच बलवान सिंह और भारतीय टीम के स्टार रेडर अजय ठाकुर भी इस मुकाबले की चाह रखते हैं।

अजय ने आईएएनएस से कहा, “हमने अपनी तैयारी कर ली है। अब जो भी सामने आएगा उसे पटखनी देंगे। हां, जहां तक ईरान के साथ होने वाले फाइनल मैच की बात है तो हमें भी इसकी चाह है क्योंकि दुनिया को विश्व कप में दो बेहतरीन टीमों के बीच फाइनल मुकाबला देखने को मिलेगा और इससे कबड्डी की साख बढ़ेगी।”

अजय ने कहा, “हम जब ट्रायल के लिए जुटे थे तभी से हमने खिताब का लक्ष्य बना लिया था। हमारी राह में कोई टीम रोड़ा नहीं बन सकती, ऐसा हम मानकर चल रहे हैं। कोरिया से हार चौंकाने वाली थी लेकिन हम जानते थे कि बाकी के चार मैच जीतकर हम सेमीफाइनल में पहुच सकते हैं। हमने इस दिशा में प्रयास किया और सफल रहे। अब हम भी चाहेंगे कि हम श्रेष्ठ टीम को हराकर खिताब जीतें। ईरान दमदार टीम है। हमने अब तक जितने भी अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों में हिस्सा लिया है, उसमें हमारा सामना ईरान से हुआ है और इस बार भी हम चाहेंगे कि हम ईरान को हराकर खिताब की रक्षा करें।”

भारतीय टीम ने संवाददाता सम्मेलन के बाद उसी मैट पर जमकर अभ्यास किया जिस पर उन्हें सेमीफाइनल मैच खेलना है। सेमीफाइनल के सभी टिकट बिक चुके हैं और शुक्रवार को एरेना बाय ट्रांसस्टेडिया के खचाखच भरे रहने की उम्मीद है। भारतीय टीम सेमीफाइनल से पहले शुक्रवार को भी अभ्यास करेगी और इसी दौरान रणनीति सम्बंधी फैसले लिए जाएंगे।

दूसरी ओर थाई टीम के कप्तान खोमसान थोंगखाम ने कहा कि जापान पर मिली जीत के बाद उनकी टीम का आत्मबल बढ़ा हुआ है लेकिन वह जानती है कि उसका सामना विश्व की सबसे तगड़ी टीम से होने जा रहा है, लिहाजा उसने खुद को मानसिक और शारीरिक तौर पर तैयार करना शुरू कर दिया है। जहां तक भारतीय टीम के खिलाफ रणनीति की बात है तो वह किसी एक खिलाड़ी को नहीं बल्कि पूरी टीम को लेकर रणनीति बनाकर मैट पर उतरेगी।