चैटवुड बिल्डिंग में अन्तिम पग से गुजरने के बाद जैन्टिल मैन कैडेट का अलग पड़ाव रैंक सेरेमनी

चैटवुड बिल्डिंग में अन्तिम पग से गुजरने के बाद जैन्टिल मैन कैडेट का अलग पड़ाव रैंक सेरेमनी

देहरादून। चैटवुड बिल्डिंग में अन्तिम पग से गुजरने के बाद जैन्टिल मैन कैडेट का अलग पड़ाव रैंक सेरेमनी का होता है। इस भव्य समारोह में कैडेटों के परिजन उनके कंधे पर पहली रैंक लगाते हैं। ये नज़ारा बहुत ही अद्भुत और गर्व देने वाला होता है भारतीय सैन्य अकादमी के सोमनाथ स्टेडियम में रैंक सेरेमनी और क़सम परेड का आयोजन हुआ। स्टेडियम के प्रांगण में मुख्य अतिथि और अकादमी के सभी अधिकारियों की मौजूदगी में इन कैडेटों के कंधे पर बंधी रैंक की पट्टियाँ इनके अपने में जब खोली तो मानों इन्होंने जग जीत लिया हो। इस अकादमी में आने वाले हर कैडेट के मन में इस सेरेमनी को लेकर अलग ही उल्लास रहता है।

 

बता दें कि रैंक सेरेमनी के बाद आर्मी के बैंड पर फ़ोर्ट से बाहर एक साथ एक लय में 370 कैडेटों ने आर्मी गीत गाते हुए मंच तक मार्च पास्ट किया जहाँ पर अकादमी के एजुडेंट ने इन्हें क़सम दिलाई इसके बाहर इन कैडेटों पर सेना के हेलीकाप्टरों ने फूल की बारिश कर इनका स्वागत और अभिनन्दन किया। परेड के बाद ये सभी जैन्टिल मैन कैडेट से भारतीय सेना में लेफ़्टिनेंट अधिकारी के तौर पर नियुक्त हो गए.. इस अकादमी की कठिन ट्रैनिंग और इनके अथक परिश्रम के बाद मिली इस सफलता पर ये जोश से भरे युवा अफ़सरों ने इस पल का जमकर लुफ्त उठाया। हर साल भारतीय सैन्य अकादमी में ये नज़ारा दिखाई देता है। इस पल का जहाँ कैडेटों और उनके परिजनों को इंतज़ार रहता।