इस योग दिवस कुछ ऐसे योगासन जो बनाएंगे आपको चुस्त-दुरुस्त, जानिए कैसे करें शुरुआत

लखनऊ: योग शरीर को स्वस्थ रखने का सबसे आसान तरीका है। इसके लिए आपको बहुत ज्यादा उपकरण और संसाधन की आवश्यकता नहीं होती। सिर्फ योगासन का सही तरीका पता होने पर पूरा लाभ शरीर को मिलता है।

सही तरीका बेहतर सेहत

योग दिखने में काफी आसान लगता है, लेकिन इसे करने का सही तरीका जरूर हमें पता होना चाहिए। कई बार ज्यादा जानकारी ना होने पर यह शरीर पर दुष्प्रभाव डाल सकता है। इसलिए पहले सभी योगासन को समझें, इसके बाद ही व्यायाम की तरफ आगे बढ़ें।

बालासन

जब छोटे बच्चे हठ करके बैठ जाते हैं तो बालासन जैसी उनकी स्थिति बन जाती है। इसमें दोनों पैर समेटकर उसी पर बैठ जाते हैं और माथे को सामने झुका कर जमीन से टच करवाते हैं। दोनों हाथ कमर के पीछे रखते हुए यह आसन किया जाता है।

योग1 इस योग दिवस कुछ ऐसे योगासन जो रखेंगे आपको चुस्त-दुरुस्त, जानिए कैसे करें शुरुआत

अर्ध चंद्रासन

शरीर के ऊपर के आधे हिस्से को जब घुमाया जाता है, यह योगासन अर्ध चंद्रासन कहलाता है। इसे हमेशा खड़े होकर करना चाहिए, सीधे खड़े होने के बाद दोनों हाथों को ऊपर उठाएं और कमर से ऊपर का शरीर अपने दाहिने तरफ और बाएं तरफ मोड़ें।

भुजंगासन

यह नाम आपने बहुत सुना होगा, जमीन पर पीठ के बल लेट कर कमर के ऊपरी हिस्से को उठाना। सिर आसमान की तरफ रखें, दोनों हाथ जमीन पर और पैर सीधे।

नटराज आसान

जो लोग नृत्य में दिलचस्पी रखते हैं, उन्हें नटराज की मूर्ति याद होगी। यह आसन कुछ ऐसा ही है, इसमें एक पैर पर खड़े होकर दूसरे पैर को पीछे से लाते हुए शरीर के अगले हिस्से को आगे झुका देते हैं। दोनों हाथों से पिछले वाले पैर को पकड़ें।

योग2 इस योग दिवस कुछ ऐसे योगासन जो रखेंगे आपको चुस्त-दुरुस्त, जानिए कैसे करें शुरुआत

गोमुखासन

इस आसन में जमीन पर बैठकर दोनों हाथ पीठ की तरफ ले जाएं, एक हाथ नीचे से और एक हाथ गर्दन के बगल से ले जाएं और दोनों हथेलियों को एक दूसरे से मिलाएं।

हलासन

यह आसन रीढ़ की हड्डियों के लिए काफी मददगार होता है। इसमें जमीन पर पहले लेट जाएं, फिर पैर को ऊपर उठाते हुए गर्दन के ऊपर से ले जाकर दूसरी तरफ जमीन पर टच करवाने की कोशिश करें। दोनों हाथ सामने की तरफ जमीन पर सीधे रहेंगे। कंधे से लेकर कमर तक का पूरा हिस्सा सीधा रहेगा और दोनों पैर जमीन को छुएंगे।

योग3 इस योग दिवस कुछ ऐसे योगासन जो रखेंगे आपको चुस्त-दुरुस्त, जानिए कैसे करें शुरुआत

सेतु बंध आसन

इस आसन में जमीन पर लेट कर कंधे से लेकर घुटनों तक का पूरा हिस्सा ऊपर रखते हैं और हाथ जमीन से लगा हुआ होता है। पैर के पंजों को जमीन से लगाए रखते हैं।

सुखासन

यह आसन अपने नाम के अनुरूप मन को शांति प्रदान करने वाला है। जिस तरह साधु संत एक जगह पर बैठकर आंख बंद करके ध्यान लगाते हैं, यह आसन भी कुछ ऐसा ही है।

मर्जरियासन

इस आसन को इंग्लिश में cat & cow pose भी कहते हैं, घुटनों के बल बैठ जाएं दोनों हाथ सामने जमीन पर रखें। कमर से लेकर कंधे तक पूरा शरीर हाथ और पैरों पर टिकाएं, गर्दन ऊपर उठाकर आसमान की तरफ देखें।

ताड़ासन

सीधे खड़े होकर पंजों के बल और दोनों हाथ ऊपर उठाकर हथेलियों से जोड़ लिया जाता है। इसके बाद शरीर को ऊपर की तरफ खींचते हैं, इससे शरीर का संतुलन और रक्त संचार बेहतर होता है।

उष्टासन

इस आसन में शरीर के पिछले हिस्से को मजबूती मिलती है। विशेषकर रीढ़ की हड्डी और कमर को ज्यादा आराम मिलता है। घुटने से लेकर पंजे तक का पूरा हिस्सा जमीन से लगा हुआ होता है। इसके ऊपर हिस्से को पीछे की तरफ मोड़ते हैं। दोनों हाथ पंजों से मिला देते हैं, गर्दन सीधी और चेहरा आसमान की तरफ होता है।

वज्रासन

यह संधि पीठ और कमर दर्द में मददगार है। इसके साथ ही बेहतर पाचन के लिए भी यह लाभकारी है। दोनों पंजों को मोड़ कर उन पर बैठे और सीधा शरीर रखते हुए, दोनों हाथ अपनी जांघों पर रखें।

योग4 इस योग दिवस कुछ ऐसे योगासन जो रखेंगे आपको चुस्त-दुरुस्त, जानिए कैसे करें शुरुआत

वृक्षासन

एक पैर पर खड़े होकर भागीरथी की तरह दिखाई देने वाला यह आसन वृक्षासन कहलाता है। जिसमें वृक्ष की मुद्रा में खड़े होकर ध्यान लगाया जाता है।

सूर्य नमस्कार

किसी भी आसन से सबसे ज्यादा उपयुक्त सूर्य नमस्कार है। इसे करने से पूरे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है और स्वास्थ्य बेहतर रहता है। कुछ जानकार यह भी कहते हैं कि सिर्फ सूर्य नमस्कार करने से ही आपके शरीर को कई लाभ मिल जाते हैं।

इसके उपयोग से जुड़ी कुछ और महत्वपूर्ण बातें हैं, जिन्हें ध्यान में रखना चाहिए। जैसे ज्यादातर योगासन सुबह के समय करने से ही लाभ मिलता है। खाली पेट ही सभी व्यायाम किए जाएं तो बेहतर होता है। योगा करने से पहले शरीर को पूरी तरीके से एक्टिव कर लेना चाहिए, बिना मन से कभी भी योग क्रिया नहीं करनी चाहिए।

UP NEWS: होटल, मॉल खोलने के आदेश, अभी इन चीजों पर रहेगी पांबदी, नई गाइडलाइन जारी

Previous article

लखनऊ: यूपी के इन 14 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured