September 25, 2021 3:27 pm
featured बिज़नेस

यस बैंक ने कब्ज़ाया अनिल अंबानी का मुंबई स्थित मुखयालय, जाने कितना है अंबानी के उपर कर्जा

anil ambani यस बैंक ने कब्ज़ाया अनिल अंबानी का मुंबई स्थित मुखयालय, जाने कितना है अंबानी के उपर कर्जा

कभी दुनिया के सबसे अमीर लोगों में अनिल अंबानी का नाम छठे नंबर पर आता था लेकिन आज अनिल अंबानी को अपना मुख्यालय भी गंवाना पड़ गया।

नई दिल्ली। कभी दुनिया के सबसे अमीर लोगों में अनिल अंबानी का नाम छठे नंबर पर आता था लेकिन आज अनिल अंबानी को अपना मुख्यालय भी गंवाना पड़ गया। अनिल अंबानी के मुंबई स्थित रिलायंस सेंटर को यस बैंक ने अपने कब्जे में ले लिया है। इसकी जानकारी फाइनेंशियल एक्सप्रेस में प्रकाशित विज्ञापन में बैंक ने दी।बैंक का कहना है कि उसने अनिल अंबानी के मुंबई के सांताक्रूज इलाके में स्थित 21,000 स्क्वेयर फीट के मुख्यालय को अपने कब्ज़े में ले लिया है। बैंक ने 22 जुलाई को यह कार्रवाई SARFESI ऐक्ट के तहत की है।

बता दें कि यस बैंक का अनिल अंबानी पर 12,000 करोड़ रुपये बकाया है। इसी साल जब अनिल अंबानी से इस मामले में ईडी ने पूछताछ की तो उन्होंने कहा कि जो भी कर्जा उन्होंने बैंक से लिया है वो पूरी तरह से सुरक्षित है। साथ ही उन्होंने पूछताछ में कहा कि वो बैंक का पूरा कर्जा चुकाएंगे उसके लिए फिर चाहे उनको अपनी संपत्ति बेचनी पड़े। यस बैंक की ओर से कर्ज बांटने अनियमितता के मामले में पूछताछ के दौरान अनिल अंबानी ने कहा था कि उनका बैंक के पूर्व डायरेक्टर राणा कपूर, उनकी पत्नी, बेटी या फिर उनके नियंत्रण वाली किसी कंपनी से कभी कोई ताल्लुक नहीं रहा है।

https://www.bharatkhabar.com/pm-modi-predicted-years-of-construction-of-ram-temple/

वहीं मई महीने में ही प्रवर्तन निदेशालय ने राणा कपूर, उनकी बेटियों रोशनी कपूर, राधा कपूर और राखी कपूर के खिलाफ यस बैंक फ्रॉड केस में चार्जशीट दाखिल की है। इसके अलावा चार्जशीट में मॉर्गन क्रेडिट्स, यस कैपिटल और Rab इंटरप्राइजेज का भी जिक्र किया गया है। फिलहाल यस बैंक के निदेशक के तौर पर प्रशांत कुमार कामकाज संभाल रहे हैं। इससे पहले प्रशांत कुमार भारतीय स्टेट बैंक के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर थे। प्रशांत कुमार ने 36 सालों तक एसबीआई में अपनी सेवाएं दी थीं।

कभी थे दुनिया छठे सबसे रईस, आज बिक रहीं इमारतें

अनिल अंबानी के मुख्यालय का बैंक के नियंत्रण में जाना उनके अर्श से फर्श तक पहुंचने की कहानी है। 2008 में दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति रहे अनिल अंबानी टेलिकॉम, पावर और एंटरटेनमेंट सेक्टर में बड़े घाटे के चलते लगातार कर्ज के दलदल में फंसते चले गए। इसी साल फरवरी में ब्रिटेन में लोन के ही एक केस की सुनवाई के दौरान अनिल अंबानी ने अपनी नेटवर्थ जीरो बताई थी।

Related posts

अगर सब कुछ सही रहा तो शंघाई सहयोग संगठन के मौके पर भारत देगा पाकिस्तान के पीएम को न्योता

Rani Naqvi

MP Board Result 2018: क्या रहा इस बार का रिजल्ट-जाने यहां

mohini kushwaha

उपराज्यपाल से मुलाकात के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल का बयान, नहीं चाहिए किसी मामले में सहमति

Ankit Tripathi