आगरा: आठ कुंतल गांजे के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश

आगरा: आगरा पुलिस और स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने संयुक्‍त ऑपरेशन में दो गांजा तस्‍करों को दबोच लिया। इनके पास से करीब डेढ़ करोड़ रुपए की कीमत का 8 कुंतल गांजा बरामद किया गया।

दरअसल, लखनऊ एसटीएफ को ओडिशा से मथुरा, आगरा व आसपास के जनपदों में मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले गिरोह के एक्टिव होने की सूचना मिली थी। इसके लिए एसटीएफ ने इन तस्‍करों की धरपकड़ के लिए कई टीमें लगाई थीं। इसी बीच वाराणसी एसटीएफ को इनपुट मिला कि एक ट्रक से उड़ीसा से भारी मात्रा में गांजा लाया जा रहा है, जिसकी सूचना लखनऊ एसटीएफ को दी। इस पर सक्रियता दिखाते हुए टीम ने जगनेर पुलिस के साथ ग्राम सरैंधी के पास ट्रक को रोक लिया।

ट्रक की फर्श के नीचे बॉक्‍स बनाकर छुपाया था

इसके बाद पुलिस और एसटीएफ के जवानों ने जब ट्रक की तलाशी ली तो उनके होश उड़ गए। ट्रक के फर्श के नीचे लगभग एक फीट गहरे 11 बॉक्स की कैविटी बनाई हुई थी, जिसमें गुप्त बॉक्स में छिपाकर गांजे के 520 पैकेट रखे गए थे। इसमें से हर एक पैकेट में करीब एक किलो गांजा था और 280 पैकेट गांजा केबिन के पिछले हिस्से की कैविटी में छिपा रखे थे।

इस तरह पुलिस और एसटीएफ ने ट्रक से कुल 800 पैकेट गांजा बरामद किया, जिनका वजन आठ कुंतल से अधिक है। इस गांजे को तस्‍करों ने लोहे की चादर से नट-बोल्ट कस कर छिपाया था। इसके अलावा ट्रक को ट्रेस करने के लिए ड्राइविंग सीट के पास जीपीएस डिवाइस भी लगाई गई थी।

तस्‍करों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

एसटीएफ द्वारा पकड़े गए तस्करों ने पूछताछ में बताया कि, ये गांजा मथुरा निवासी नरेंद्र सिंह उर्फ गीतम सिंह का है, जो मूल रूप से बिहार का रहने वाला है। उसने यह गांजा सोनपुर उड़ीसा के राम कुमार बारिक के यहां से मंगवाया था। वह नरेंद्र सिंह के लिए इससे पहले भी कई बार गांजा ला चुके हैं। वहीं, इन गांजा तस्करों के खिलाफ जगनेर थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

फिजियोथेरेपी से शरीर को बनाया जा सकता है मजबूत: अतुल मिश्रा

Previous article

UP: शिक्षा विभाग में 37 अधिकारियों का तबादला, 28 जिलों के BSA बदले

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in यूपी