सपा नेता आईपी सिंह पर गंभीर धाराओं में FIR, जानिए क्‍या है पूरा मामला

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता व पूर्व राज्‍य मंत्री आईपी सिंह के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। रविवार को एक व्‍यापारी ने विभूतिखंड थाने में सपा नेता के विरुद्ध केस दर्ज कराया है।

दरअसल, एपीआई गोल्फ सिटी के रहने वाली व्‍यापारी अवधेश सिंह ने अपनी तहरीर में बताया कि, व्‍यापारिक लेन-देन में उन्‍होंने सपा प्रवक्‍ता इंद्रपाल सिह उर्फ आईपी सिंह से 34 लाख रुपए उधार लिए थे, जिसका लाभांश भी वह दे रहे थे। लेकिन कोविड काल के कारण उनका व्यापार बंद हो गया और कुछ पारिवारिक परेशानियों की वजह से वह पिछले 4 माह से लाभांश का पैसा नहीं दे पाए थे। इसके लिए उन्‍होंने आईपी सिंह से अक्टूबर के बाद पैसे देने का निवेदन किया था।

व्‍यापारी ने दर्ज कराया मुकदमा

व्‍यापारी ने तहरीर में बताया कि, रविवार सुबह 10 बजे आईपी के भाई मनोज सिंह अपने चार साथियों के साथ मेरे आवास पर आये और मुझे गालियां देते हुए असलहा लगाकर जबरजस्ती अपने साथ इंद्रपाल सिंह के आवास ले गए। वहां पहुंचकर मनोज सिंह के लोगों ने आईपी सिंह के कहने पर मेरा मोबाइल व गाड़ी की चाभी छीन ली। उनके साथ के उदय यादव ने कमरे का दरवाजा बंद कर लिया।

अवधेश सिंह ने आरोप लगाते हुए बताया कि, इन्द्रपाल सिंह ने मेरी गाड़ी की चाभी उदय को देकर कहा कि गाड़ी कहीं और खड़ी कर दो। आज इसको जान से मार देना है। उदय यादव के जाने के बाद आईपी सिंह ने मेरे साथ जान से मारने की नियत से मारपीट की और अपने साथ के एक सावलें आदमी से पिस्टल लेकर मेरे कनपटी पर लगा दी। इसके बाद कहा कि, इसको गोली नहीं मारेंगे, बल्कि 10 मीटर पॉलीथिन मंगवाकर इसे बेहोश करके पॉलिथिन में पैक करके रखो और इसके बेटे को जाकर ले आओ। दोनों को जान से मारकर पॉलीथिन में पैक करके घाघरा नदी में डाल दिया जायेगा।

आईपी सिंह सहित कई के खिलाफ नामजद मुकदमा   

अवधेश सिंह ने बताया कि, इसके करीब एक घंटे बाद मौका पाकर मैं अपना मोबाइल व गाड़ी की चाभी लेकर वहां से जान बचाकर भाग निकला। वहीं, ढूंढने पर उसके घर से कुछ दूरी पर मेरी गाड़ी मिल गयी, जिससे मैं गोमतीनगर थाने के पीछे अपने परिचित के घर चला आया। थोड़ी स्थिति सामान्य होने पर मैंने 112 नंब पर सूचना दी। वहीं, विभूतिखंड थाना पुलिस ने व्‍यापारी की तहरीर पर सपा नेता आईपी सिंह, उनके भाई मनोज सिंह, उदय यादव व अन्‍य के खिलाफ 147, 307, 342 जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पैसों के लालच में मूक-बधिर की करा दी नसबंदी,परिजनों ने आशा पर लगाया गंभीर आरोप

Previous article

लखनऊ में पकड़े गए अलकायदा आतंकी की पत्‍नी का इंटीग्रल यूनिवर्सिटी कनेक्‍शन!

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured