October 5, 2022 11:38 am
featured यूपी

यूपी विधानसभा : पहली बार गूंजी सिर्फ महिला विधायकों की आवाज, रचा इतिहास

UP assembly

 

यूपी विधानसभा और विधान परिषद की कारवाई चल रही है । विधानसभा में विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना महिलाओं के लिए विशेष सत्र को लेकर संबोधन किया ।

यह भी पढ़े

 

Mathura: गोवर्धन में रामलीला महोत्सव कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

आज का दिन है ख़ास

आज यूपी विधानसभा में विशेष दिन हैं। आज पहली बार विधानसभा में सिर्फ महिला सदस्यों की आवाज गूंजेगी विधानसभा में आज सिर्फ महिला विधायक अपना विषय रखेंगी। 22 सितबंर यानी आज का दिन महिला विधायकों के लिए तय किया गया है। आज पुरुष विधायक सिर्फ सुनेंगे। 19 सितंबर से विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है। विधानसभा की 47 और विधान परिषद की 6 महिला सदस्य अपनी बात रखेंगी।

a76b375c 2c58 11ec a2ce f0c64477ba97 1634152420726 यूपी विधानसभा : पहली बार गूंजी सिर्फ महिला विधायकों की आवाज, रचा इतिहासयूपी विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन सदन में पहुंचीं तमाम महिला विधायक बेहद उत्साहित हैं। बता दें कुछ दिन पहले विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने एक बैठक बुलाई थी। इस बैठक में शामिल महिला विधायकों ने कहा था कि उन्हें बोलने का मौका नहीं मिलता है। इसके बाद इस सत्र में एक दिन महिलाओं के लिए तय करने का फैसला किया गया। सर्वदलीय बैठक में स्पीकर ने अपनी मंशा सभी दलों के नेताओं के सामने रखी। इसके बाद इस पर चर्चा हुई। फिर सभी दलों ने मुहर लगा दी। सभी की सहमति से यह तय हुआ कि 22 सितंबर को सदन में केवल महिला विधायक ही बोलेंगी।

सदन में आज ये होगा

आज पहली बार उत्तर प्रदेश की विधानसभा में केवल महिला विधायक मुद्दे उठाएंगी और अपनी बात रखेंगी। महिला विधायक प्रश्नकाल के बाद महिलाओं, अपनी विधानसभा से जुड़े मुद्दों पर अपनी बात रख सकती हैं। यूपी विधानसभा में कुल 47 महिला विधायक हैं। राज्य के मंत्रिमंडल में पांच महिलाएं शामिल हैं।

UP assembly

CM ने लिखा था पत्र

सीएम योगी ने सभी महिला विधायकों के नाम एक पत्र लिखा था। जिसमें लिखा था, “मिशन शक्ति के अन्तर्गत केन्द्र एवं राज्य सरकार की महिला सशक्तिकरण से जुड़ी योजनाओं और कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वयन से देश और दुनिया में उत्तर प्रदेश के बारे में सोच बदली है। पिछले साढ़े पांच सालों में उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान को सुनिश्चित की।

 

cm yogi, up, police, vidhansabha, security, visfotak

Related posts

सबसे पहले किसे दी जाए कोरोना वैक्सीन, भारत सरकार कर रही विचार

Rani Naqvi

अजब पाक की गजब कहानी आंतकियों को छो़ड़ कोरोना मरीजों के पीछे दौड़ रहीं खूफिया एजेंसी..

Mamta Gautam

‘टोरबाज’ का ट्रेलर हुआ रीलीज, अभिनेता ने कहा- रेफ्यूजी कैंप में रहने वाले बच्चे टेररिस्ट नहीं होते बल्कि वे टेररिज्म का पहला शिकार होते हैं

Trinath Mishra