कोरोना वैक्सीन लगवाने गई महिला को लगा दिया कुत्ते का इंजेक्शन
लखनऊ:उत्तर प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। उसके बाद स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से अभी कोरोना की लहर से प्रभावित करेगी इसी कड़ी में अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना वैक्सीनेशन  पर ज्यादा फोकस करने का निर्णय लिया है। इसके बाद 11 से 14 अप्रैल के बीच में 45 साल की उम्र से ऊपर के लोगों का कोरोना वैक्सीनेशन किया जाएगा।
ज्योतिबा फुले की जयंती से लेकर  भीमराव अंबेडकर की जयंती तक मनाया जाएगा टीका उत्सव
उत्तर प्रदेश में 45 साल के ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन कराने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश भर में 11 से 14 अप्रैल के बीच टीका उत्सव मनाया जाएगा। प्रदेश भर में इसको लेकर के तमाम तरीके तैयारियां चल रही है। कोरोना वैक्सीनेशन 11 अप्रैल ज्योतिबा फुले की जयंती से लेकर के 14 अप्रैल भीमराव अंबेडकर की जयंती तक मनाया जाएगा। इस दौरान उत्तर प्रदेश के स्वास्थ विभाग द्वारा प्रदेश भर में लोगों से अपील की गई है कि ज्यादा से ज्यादा लोग कोरोना वैक्सीनेशन के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाएं और कोरोनावायरस वैक्सीन लगवाएं। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोनावायरस के प्रकोप से बचाया जा सके।
वैक्सीन लगने के बाद जानलेवा नहीं रहता कोरोना संक्रमण
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का काम भी चल रहा है।इस दौरान लोगों को कोरोना वैक्सीन के प्रति जागरूक किया जा रहा है। जिसमें स्वास्थ विभाग द्वारा उन सभी लोगों का अनुभव साझा किया जा रहा है। जिनको कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए।
इनमें उनका अनुभव साझा करते हुए स्वास्थ विभाग लोगों को समझा रहा है कि कोरोना वैक्सीन लगने के बाद कोरोना संक्रमण जानलेवा नहीं रहता। कोरोना वैक्सीन लगाने पर पर कोरोनावायरस का प्रभाव शरीर पर उतना नहीं पड़ता। जिसके बाद यदि कोरोनावायरस किसी व्यक्ति को हो ही जाता है तो वह सुरक्षित रहता है।
प्रदेशभर में बढ़ाए गए वैक्सीनेशन सेंटर
उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोनावायरस वैक्सीनेशन के लिए चलाए जा रहे टीका उत्सव को लेकर के तमाम तरीके तैयारियां कर ली गई है। इसी कड़ी में प्रदेश भर में कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर बनाए जा रहे हैं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कहा जा रहा है।
इसी कड़ी में हर जिले में कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर की संख्या बढ़ाने के लिए कहा गया है। जिससे  कोरोना वैक्सीन लगवाने आये लोगों को समस्या का सामना करना पड़े। इस पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महानिदेशक डॉक्टर ने बताया की 11 से 14 अप्रैल के बीच में मनाये जाने वाली टीका उत्सव को लेकर के प्रदेश भर में वैक्सीनेशन सेंटरों की संख्या बढ़ा दी गई है, जिससे कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीन दिलवाई जा सके।

बंगाल चुनाव: चौथे चरण की वोटिंग के दौरान बवाल, फायरिंग में 4 की मौत

Previous article

Anusha Dandekar की ब्रालैस तस्वीर पर बवाल, ट्रोलर्स बोले- ब्रा भेज दूं

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.