guru nanak dev ji गुरू नानक जी का 551वां प्रकाश पर्व, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

कल यानि 30 नवंबर 2020 को कार्तिक पुर्णिमा है और हर साल कार्तिक मास की पूर्णिमा को गुरु नानक जयंती मनाई जाती है. इस दिन को प्रकाश पर्व और गुरू पर्व के नाम से भी जाना जाता है. कार्तिक पुर्णिमा के चलते 30 नवंबर को गुरू पर्व मनाया जाएगा. इस बार गुरु नानक जी की 551वीं जयंती मनाई जा रही है.

क्यों मनाया जाता है गुरू पर्व
हर साल कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा के दिन गुरू पर्व मनाया जाता है. क्योंकि गुरू नानक जी का जन्म कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा को हुआ था. गुरु नानक देव जी सिखों के प्रथम गुरु थे. गुरु नानक देव जी ने ही श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारे की नींव रखी थी. नानक जी के जन्म दिन के मौके पर गुरू पर्व या प्रकाश पर्व मनाया जाता है.

कैसे मनाई जाती है गुरू नानक जयंती
देशभर में बड़ी खुशी और हसी के साथ इस दिन को मनाया जाता है. इस दिन श्रद्धालू सुबह-सुबह प्रभात फेरी निकालते हैं. फिर मत्था टेकने और गुरू के दर्शन के लिये गुरुद्वारे जाते हैं और उनका आशिर्वाद लेते हैं. इसी दिन किर्तन आदि का आयोजन भी किया जाता है. साथ ही गुरु नानत देव जी की शिक्षाओं को याद किया जाता है. इसके साथ ही कुछ श्रद्धालु अपने घरों में अखंड पाठ भी कराते हैं.

शुभ मुहूर्त

गुरू नानक जयंती का शुभ मुहूर्त
गुरू नानक जयंती, 30 नवंबर 2020
जयंती तिथि- सोमवार, 30 नवंबर 2020
पूर्णिमा तिथि प्रारंभ- 12:47 बजे (29 नवंबर 2020) से
पूर्णिमा तिथि समाप्त- 14:58 बजे (30 नवंबर 2020) तक

नगरपालिका कांग्रेस बोर्ड के एक साल पूरे, विकास को लेकर भाजपा ने दिया ZERO

Previous article

जानिए किस दिन न करें इन चीजों का सेवन, नहीं परिवार को पड़ सकता है कष्ट

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in धर्म