November 30, 2022 11:42 pm
Breaking News featured मध्यप्रदेश

शिवराज चौहान बोले बिना आवेदन के ही भाई का कर्ज क्यों किया माफ? क्या है इसके पीछे की वजह?

shivraj singh 2 1 शिवराज चौहान बोले बिना आवेदन के ही भाई का कर्ज क्यों किया माफ? क्या है इसके पीछे की वजह?

एजेंसी, भोपाल। मध्य प्रदेश में किसान कर्जमाफी को लेकर सियासत तेज हो गई है। सूबे की विपक्षी पार्टी बीजेपी (BJP) जहां किसानों का कर्जमाफी नहीं होने का दावा कर रही है तो वहीं कांग्रेस (Congress) आंकड़े पेश कर कर्जमाफी के दावे को पुख्ता करने की कोशिश में है।
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को च्वनप्राश, बादाम भेजकर उनकी यादाश्त ठीक करने की बात कह रही है. कांग्रेस अपनी लिस्ट के जरिये ये भी बता रही है कि शिवराज सिंह चौहान के भाई रोहित सिंह और चाचा के बेटे निरंजन सिंह का भी कर्ज माफ हुआ है।
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर किसान कर्ज माफी पर सवाल उठाते हुए कहा कि उनके भाई रोहित सिंह ने कर्ज माफी का आवेदन ही नहीं किया था, फिर भी कर्ज माफ कर दिया गया, यह साजिश है. मुख्यमत्री कमलनाथ बताएं कि, उनके (चौहान) परिवार पर इतनी मेहरबानी क्यों?
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को ग्वालियर की सभा में शिवराज सिंह चौहान के भाई रोहित सिंह और रिश्तेदार का कर्ज माफ किए जाने की बात कही थी. इसका जवाब देते हुए चौहान ने गुरुवार को कांग्रेस व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) से सवाल करते हुए कहा, ‘मेरे परिवार पर इतनी मेहरबानी क्यों हो रही?
मेरे भाई रोहित सिंह चौहान ने कर्जमाफी का आवेदन ही नहीं किया. इसके साथ ही वे आयकर दाता हैं, फिर भी कर्ज माफी का दावा किया जा रहा है. यह साजिश का हिस्सा है।’ बता दें, शिवराज सिंह चौहान द्वारा किसानों की कर्जमाफी पर कई दिनों से सवाल उठाए जा रहे हैं. इसका जवाब देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को ग्वालियर की सभा में कहा था, ‘मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बताया है कि राज्य में जिन किसानों का कर्ज माफ हुआ है उनमें शिवराज चौहान के भाई रोहित सिंह और चाचा के लड़के भी शामिल हैं।’
चौहान ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि, ‘वचन पत्र में किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ किए जाने की बात कही थी अब कांग्रेस अपने वादे से मुकर गई है और सिर्फ फसल कर्ज माफी की बात करने लगी है.’ मालूम हो कि, राज्य सरकार ने किसान कर्जमाफी के लिए तीन रंग के अलग-अलग आवेदन किसानों से मांगे थे।
किसानों ने पंचायतों में अपने आवेदन जमा किए थे. उसी के आधार पर सरकार ने दावा किया था कि राज्य में 55 लाख किसानों पर कर्ज है. इनमें से 21 लाख किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ किया जा चुका हैं।

Related posts

जानें अलग-अलग देशों में धर्म के आधार पर कैसे मिलती है नागरिकता

Trinath Mishra

‘महोबा’ पहुंचे कांग्रेस के युवराज, किसानों से बात कर सुनेंगे समस्याएं

shipra saxena

सीएम योगी का 1 करोड़ युवाओं को स्‍मार्टफोन देने का ऐलान, प्रतियोगी छात्रों को मिलेगा भत्‍ता

Shailendra Singh