वरिष्ठ आईपीएस ओम प्रकाश सिंह हुए रिलीव खाली नहीं रहेगी पुलिस महानिदेशक की कुर्सी

लखनऊ। केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के पुलिस महानिदेशक पद से वरिष्ठ आईपीएस ओम प्रकाश सिंह रिलीव हो गये हैं। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक की कुर्सी अब खाली नहीं रहेगी। सिंह दो दिनों के भीतर डीजीपी का पद सभांल सकते हैं। रविवार को उत्तर प्रदेश के गृह विभाग को केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह के रिलीव होने का प्रपत्र प्राप्त हो गया, इसके साथ ही प्रदेश का गृह विभाग नये पुलिस महानिदेशक के कुर्सी पर बैठने की तैयारी में जुट गया है। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक की कुर्सी पर वरिष्ठ आईपीएस ओमप्रकाश सिंह सोमवार या मंगलवार को बैठेंगे। इसके पहले वह उत्तर प्रदेश के प्रमुख पुलिस अधिकारियों से वार्ता करने वाले हैं। इसके लिए पुलिस मुख्यालय में भी तैयारी शुरू हो गयी है।

Senior IPS officer Om Prakash Singh
Senior IPS officer Om Prakash Singh

बता दें कि पुलिस महानिदेशक रहे सुलखान सिंह के सेवानिवृत होने के बाद नये पुलिस महानिदेशक के लिए वरिष्ठ आईपीएस ओम प्रकाश सिंह का नाम सामने आया था, लेकिन कुछ कारणों से प्रदेश सरकार का प्रस्ताव प्रधानमंत्री कार्यालय में रोका गया। इस तरह 19 दिनों के बीतने के बाद शुक्रवार को प्रदेश सरकार ने दोबारा ओम प्रकाश सिंह के नाम का प्रस्ताव पत्र दिल्ली भेजा और उसी दिन उन्हें रिलीव करने की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया गया। इसके बाद प्रदेश के गृह विभाग को प्रपत्र भेजा गया, जो रविवार को प्राप्त हुआ।

वहीं ओम प्रकाश सिंह 1983 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। वह सीआईएसएफ में पुलिस महानिदेशक पद पर कार्यरत रहे। सीआईएसएफ के पुलिस महानिदेशक के पदभार से मुक्त होने के बाद उन्हें उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक का जिम्मा सौंपा गया है। इसके पहले मुख्य सचिव राजीव कुमार की अध्यक्षता में प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार तथा प्रमुख सचिव (मुख्यमंत्री) शशि प्रकाश की कमेटी की पहली पसंद ओम प्रकाश सिंह ही थे। कमेटी और नामों को हटाकर पुलिस महानिदेशक के लिए यह नाम तय किया था।