featured देश

चुनावी घोषणाओं को लेकर राजस्थान, मध्य प्रदेश और केंद्र को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, कहा 4 हफ्ते में जवाब दे चुनाव आयोग

Gujarat Panchayat Elections चुनावी घोषणाओं को लेकर राजस्थान, मध्य प्रदेश और केंद्र को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, कहा 4 हफ्ते में जवाब दे चुनाव आयोग

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले मुफ्त की रेवड़ी बांटने जैसी घोषणाओं और योजनाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार, चुनाव आयोग, राजस्थान और मध्य प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अदालत ने इनसे 4 हफ्ते में जवाब मांगा है।

यह भी पढ़े

महाकुंभ से पहले प्रयाग के द्वादश माधव मंदिरों का होगा कायाकल्प, योगी सरकार ने रोड मैप किया तैयार

 

कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने नई जनहित याचिका को पहले से चल रही अन्य याचिकाओं के साथ जोड़ दिया है। सभी मामलों की सुनवाई अब एकसाथ होगी।

जनवरी 2022 में BJP नेता अश्विनी उपाध्याय फ्रीबीज के खिलाफ एक जनहित याचिका लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे। अपनी याचिका में उपाध्याय ने चुनावों के दौरान राजनीतिक पार्टियों के वोटर्स से फ्रीबीज या मुफ्त उपहार के वादों पर रोक लगाने की अपील की। इसमें मांग की गई है कि चुनाव आयोग को ऐसी पार्टियां की मान्यता रद्द करनी चाहिए।

केंद्र सरकार ने अश्विनी से सहमति जताते हुए सुप्रीम कोर्ट से फ्रीबीज की परिभाषा तय करने की अपील की। केंद्र ने कहा कि अगर फ्रीबीज का बंटना जारी रहा तो ये देश को ‘भविष्य की आर्थिक आपदा’ की ओर ले जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान 11 अगस्त को चुनाव आयोग ने कहा था कि फ्रीबीज पर पार्टियां क्या पॉलिसी अपनाती हैं, उसे रेगुलेट करना चुनाव आयोग के अधिकार में नहीं है। चुनावों से पहले फ्रीबीज का वादा करना या चुनाव के बाद उसे देना राजनीतिक पार्टियों का नीतिगत फैसला होता है। इस बारे में नियम बनाए बिना कोई कार्रवाई करना चुनाव आयोग की शक्तियों का दुरुपयोग करना होगा। कोर्ट ही तय करें कि फ्री स्कीम्स क्या है और क्या नहीं। इसके बाद हम इसे लागू करेंगे।

Related posts

हवाई यात्रा में रोक के बाद चार्टड प्लेन से दिल्ली पहुंचे रवीन्द्र गायकवाड़

shipra saxena

हाईकोर्ट में हुई पूर्व सीएम हरीश रावत के स्टिंग मामले में सीबीआई की ओर से उनके खिलाफ दर्ज मामले में संक्षिप्त सुनवाई 

Rani Naqvi

सोनिया गांधी के खिलाफ इलेक्शन कमीशन पहुंची BJP

Rahul